आसरा होम कांड की आरोपी मनीषा दयाल के घर छापेमारी, डॉक्टर की तलाश में खाक छान रही पुलिस

आसरा होम कांड की आरोपी मनीषा दयाल के घर छापेमारी, डॉक्टर की तलाश में खाक छान रही पुलिस

PATNA : आसरा होम कांड में पुलिस की छापेमारी तेज हो गयी है। सोमवार की देर रात जहां मनीषा दयाल के दफ्तर में पुलिस ने छापेमारी की थी वहीं मंगलवार, 14 अगस्त को जांच टीम ने मनीषा दयाल के घर पर छापेमारी की। बताया जा रहा है कि आनंदपुरी स्थित एसएमएस विला अपार्टमेंट में छापेमारी चल रही है। डीएसपी सुधांशु कुमार के नेतृत्व में छापेमारी की गयी। छापेमारी के दौरान मौके से महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए गये हैं। ये दस्तावेज एनजीओ से जुड़े बताये जा रहे हैं। मनीषा के बेटे से भी पूछताछ हुई है लेकिन पुलिस फिलहाल इस बारे में कुछ भी नहीं बता रही है। 

मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में पुलिस मनीषा दयाल के पूरे घर को खंगाल रही है। फिलहाल किसी प्रकार की आपत्तिजनक सामान मिलने की सूचना नहीं है। पुलिस लगातार मनीषा और चिरंतन के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। 

इसके पहले सोमवार को पुलिस ने मनीषा दयाल और चिरंतन कुमार को तीन दिनों के पुलिस रिमांड पर ले लिया था। सोमवार को पुलिस दोनों आरोपियों से ज्यादा पूछताछ नहीं कर पायी थी। हालांकि पुलिस ने सोमवार की देर रात मनीषा दयाल के दफ्तर पर छापेमारी की थी। 

पटना के नेपाली नगर स्थित आसरा होम कांड में हर पल कुछ नया खुलासा हो रहा है। दो संवासिनों की संदिग्ध मौत के बाद पुलिस जांच तेज हो गयी है। पुलिस ने इस मामले में चार एफआईआर दर्ज की है। पुलिस डॉक्टर अंशुमन की तलाश में खाक छान रही है। बता दें कि ये वही डॉक्टर साहब हैं बीमार पड़ने पर, आसरा होम में रहनेवाली युवतियों का इलाज करते हैं। दो संवासिनों के मौत मामले में भी कहा जा रहा है कि पीएमसीएच ले जाने के पहले बीमार संवासिनों को डॉक्टर अंशुमन के पास ही इलाज के लिए लाया गया था।

इधर, 13 अगस्त, सोमवार को पुलिस कस्टडी में चिरंतन दास ने अपनी जान का खतरा बताया है। खतरे को सियासी कनेक्शन से जोड़कर देखा जा रहा है। चिरंतन कुमार दास नाम का यह शख्स आसरा होम को चलाने वाली NGO अनुमाया ह्यूमन रिसर्च फाउंडेशन का सचिव है। चिरंतन इवेंट मैनेजमेंट का काम भी देखता है। 

12 अगस्त, रविवार की देर रात मजिस्ट्रेट नीलू पॉल के बयान पर राजीवनगर थाने में एफआईआर दर्ज की गयी। एफआईआर में चिरंतन कुमार और मनीषा दयाल के अलावा एक डॉक्टर और एएनएम का भी नाम है। दर्ज केस में बताया गया है कि संवासिनों के इलाज में लापरवाही बरती गयी। पुलिस ने 'आसरा गृह' की कर्मी रेणु सिन्हा व अन्य दो कर्मचारियों को भी हिरासत में लिया है। उनसे भी पूछताछ की जा रही है। बता दें कि रविवार की रात ही सीआईडी की टीम ने 'आसरा गृह' पहुंच कर जांच की थी।  



Find Us on Facebook

Trending News