सदर अस्पताल में मरहम पट्टी का सामान भी उपलब्ध नहीं, घायल मरीज को अधूरे इलाज के बाद कर दिया रेफर

सदर अस्पताल में मरहम पट्टी का सामान भी उपलब्ध नहीं, घायल मरीज को अधूरे इलाज के बाद कर दिया रेफर

भभुआ। जिले के सरकारी अस्पतालों में इलाज की कैसी व्यवस्था है, इसका ताजा उदाहरण भभुआ के सदर अस्पताल में देखने को मिला है, जहां एक्सीडेंट में घायल व्यक्ति के लिए जरुरी सामान भी उपलब्ध नहीं था। जैसे तैसे यहां मौजूद डॉक्टर द्वारा इलाज की खानापूर्ति कर उसे प्राइवेट अस्पताल रेफर कर दिया गया। 

दरअसल कैमूर जिले के कुदरा थाना क्षेत्र के सकरी में ट्रैक्टर से बालू लाने के लिए जा रहे गाड़ी में पीछे से तेज रफ्तार से आ रहे ट्रक ने मारी ठोकर। जिससे चालक सड़क पर ही गिर पड़ा। जिससे उसके कमर सिर और चेहरे में काफी चोट आई है। चालक का एक कान भी बूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। घटना की सूचना के बाद कुदरा पुलिस ने उसे इलाज के लिए कुदरा पीएचसी पहुंचाया। जहां कुदरा पीएचसी के चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार कर बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया। 

टांका लगाने के लिए नहीं मिला धागा

परिजनों ने बताया कि सदर अस्पताल की हालत ऐसी थी कि यहां मरीज के जख्मों पर टांका लगाने के लिए के लिए धागा तक उपलब्ध नहीं था, जिसके कारण लगभग डेढ़ घटें तक अस्पताल में भटकने के लिए मजबूर होना पड़ा। बाद में किसी तरह कपड़े से बांध कर मरीज को प्राइवेट अस्पताल रेफर कर दिया गया। 

डीपीएम ने किया इनकार

सदर अस्पताल के डीपीएम ऋषिकेश जायसवाल ने बताया एक्सीडेंट में घायल एक मरीज अस्पताल आया था जहां चिकित्सकों द्वारा उपचार कर उसे बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर किया गया है। उसको कई जगह चोट लगी है जिसका हायर सेंटर में ही इलाज संभव था ।

Find Us on Facebook

Trending News