कैबिनेट मीटिंग हॉल के बाहर से ही 'मंत्री जी' को लौटना पड़ा वापस, जानें वजह.....

कैबिनेट मीटिंग हॉल के बाहर से ही 'मंत्री जी' को लौटना पड़ा वापस, जानें वजह.....

PATNA: मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता में आज मंत्रिमंडल की बैठक हुई। करीब एक घंटे तक चली बैठक में छह एजेंडों पर मुहर लगी। बैठक से पहले ही दोनों डिप्टी सीएम व अन्य मंत्रियों के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद हड़कंप मच गया। उपमुख्‍यमंत्री तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी के अलावा दो अन्‍य मंत्री अशोक चौधरी और सुनील कुमार कोरोना संक्रमित पाए गए। इसके बाद कैबिनेट की बैठक में अधिकांश मंत्री आनलाइन जुड़े. लेकिन एक मंत्री कैबिनेट की मीटिंग में सचिवालय तो पहुंचे लेकिन वो भी सभा कक्ष में नहीं जा पाये। वे बैरंग लौट गये और फिर ऑनलाइन ही जुड़े।  

बिहार सरकार के मंत्री जनक राम बैठक में शामिल होने के लिए सचिवालय पहुंचे, लेकिन वे भी सभा कक्ष में नहीं गए । इसके बाद आनलाइन ही कैबिनेट बैठक में शामिल हुए। इसके पीछे की जो वजह बताई गई वो यह कि उन्‍होंने कोरोना की जांच नहीं कराई थी। बैठक के बाद मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि खान मंत्री जनक राम बैठक में शामिल होने गये थे लेकिन वो कोरोना की जांच नहीं करा पाये थे। इसके बाद वो ऑनलाइन जुड़े। बता दें, कैबिनेट बैठक में शामिल होने वाले सभी मंत्रियों की कोरोना की जांच के लिए एक दिन पहले ही सैंपल लिया गया था। आज की कैबिनेट की मीटिंग में कुल 6 एजेंड़ों पर मुहर लगी है। 

बिहार नगर पालिका अधिनियम-2007 के आलोक में एक नए नगर निकाय का गठन एवं तीन नगर निकायों का क्षेत्र विस्तार की स्वीकृति दी गई है.प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी स्वर्गीय कविराज राम लखन सिंह, वैद्य शहीद नाथुन प्रसाद यादव, शीलभद्र याजी, मोगल सिंह, एवं डूमर प्रसाद सिंह के सम्मान में नगर परिषद क्षेत्र बख्तियारपुर में स्थापित प्रतिमा स्थल पर प्रत्येक वर्ष 17 जनवरी को राजकीय समारोह आयोजित किए जाने की स्वीकृति दी गई है .बता दें, स्वर्गीय कविराज राम लखन सिंह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पिता थे। उनकी प्रतिमा बख्तियारपुर में लगी है। अब उसी प्रतिमा स्थल पर हर साल 17 जनवरी को राजकीय समारोह आयोजित किये जायेंगे। 

बिहार पेशा कर नियमावली में संशोधन की स्वीकृति दी गई है .कोरोना संक्रमण से मृत व्यक्ति के आश्रितों को 4 लाख अनुग्रह अनुदान की राशि भुगतान के लिए वित्तीय वर्ष 2021-22 में 105 करोड़ रुपए अग्रिम की स्वीकृति दी गई है .वही ₹50000 की दर से कोरो नावायरससे मृत व्यक्ति के परिजन को अनुग्रह अनुदान देने के लिए ₹20करोड़ की स्वीकृति दी गई है . बिहार में राजस्व वृद्धि के लिए बिहार ईख नियमावली-1978 के नियम उपनियम में प्र

Find Us on Facebook

Trending News