10+8+6 तकनीक फॉलो करके आप बन सकते हैं IAS, मॉडल ऐश्वर्या ने इसी तकनीक के सहारे पास की UPSC परीक्षा

10+8+6 तकनीक फॉलो करके आप बन सकते हैं IAS, मॉडल ऐश्वर्या ने इसी तकनीक के सहारे पास की UPSC परीक्षा

Desk: UPSC सिविल सर्विस रिजल्ट 2019 की घोषणा कुछ दिनों पहले की गई थी.  जिसमें  पूर्व मिस इंडिया फाइनलिस्ट ऐश्वर्या श्योरान का नाम भी  UPSC 2019 के सफल उम्मीदवारों की लिस्ट में है. उन्होंने इस परीक्षा में 93 रैंक हासिल की है. ऐश्वर्या ने ग्लैमर की दुनिया से हार्ड कोर यूपीएससी की पढ़ाई के लिए कुछ नियम फॉलो किए हैं. उन्होंने बताया, मैंने दिल्ली टाइम्स फ्रेश फेस के साथ अपना सफर शुरू किया था और उसके बाद कई अन्य  प्रोजेक्ट मेरे पास आए, मुझे मॉडलिंग इंडस्ट्री में कदम रखने के लिए मिस इंडिया में भाग लेने के लिए भी कहा गया था.

मॉडलिंग की दुनिया में अपने पैर जमाना मेरी मां का सपना था. वह हमेशा चाहती थीं कि मैं इस क्षेत्र  में जाऊं, इसीलिए उन्होंने मेरा नाम भी अभिनेत्री ऐश्वर्या राय के नाम पर रखा था.मॉडलिंग मेरे लिए एक संयोग के रूप में आई. जब मैं शॉपिंग मॉल में अपनी मां के साथ खरीदारी कर रही थी तो वहां आयोजित दिल्ली टाइम्स फ्रेश फेस प्रतियोगिता में भाग ले लिया. मॉडलिंग की यात्रा वहीं से शुरू हुई. जब वह अपने कॉलेज के सेकंड ईयर में थीं, तब उन्होंने मिस इंडिया प्रतियोगिता में भाग लिया था, जिसके बाद उन्हें मॉडलिंग असाइनमेंट्स के कई ऑफर आने लगे.

उन्होंने बताया, मेरा मन यूपीएससी परीक्षा देने का था. जिसके बाद मई 2018 तक अपने सभी मॉडलिंग असाइनमेंट को  पूरा कर खुद को सिविल सर्विसेज की तैयारी के लिए समर्पित कर दिया. मैंने सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से खुद को पूरी तरह से दूर कर लिया था. मैं किसी भी तरह की ऐसी चीज नहीं करना चाहती थी जिससे मेरा ध्यान भटके. ऐश्वर्या बचपन से ही बहुत पढ़ने वाली लड़की थी और हमेशा शानदार स्कोर करती थी, चाहे वह स्कूल में हो या कॉलेज में. यूपीएससी के लिए, उसने एक बहुत ही सरल लेकिन कड़ी मेहनत करने वाली तकनीक लागू की.

उन्होंने बताया, मेरे पास हमेशा एक सरल तकनीक थी जिसका मैंने 2018-2019 के दौरान पालन किया. मैंने  साल 2018 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी. मेरी सफलता का मंत्र 10 + 8 + 6 है यानी 10 घंटे पढ़ाई, 8 घंटे की नींद और 6 घंटे की अन्य एक्टिविटिज करना. बता दें, ऐश्वर्या ने कभी कोचिंग क्लास नहीं ली है. उन्होंने कहा, "मेरी राय में, कोचिंग में शामिल होना एक व्यक्तिगत पसंद है. मैं बचपन से ही हमेशा सेल्फ स्टडीज के फॉर्मूले पर विश्वास करती हूं.

Find Us on Facebook

Trending News