मोटापे से है परेशान, तो संभल जाये, नहीं तो हो सकते है कई बीमारियों का शिकार

मोटापे से है परेशान, तो संभल जाये, नहीं तो हो सकते है कई बीमारियों का शिकार

डेस्क... आजकल मोटापा की समस्या आम होती जा रही है . हमारा लाइफस्टाइल ऐसा होता जा रहा है की हमलोग मशीनी यंत्र से अधिक घिरे हुए रहते है,नतीजा शारीरिक व्यायाम कम और शरीर कई बीमारियों का घर .  हेल्दी रहने के लिये वजन को कंट्रोल करना बहुत ही जरूरी है.यह बीमारी पूरी दुनिया में एक महामारी बन गई है। भारत में अनेक लोग मोटापा के शिकार हैं। मोटापे के कारण शरीर में कई तरह की परेशानियां होने लगती हैं.मोटापा क्या है? जब किसी व्यक्ति का शरीर का वजन, सामान्य से अधिक हो जाता तो उसे मोटापा कहते हैं। आप रोज जितनी कैलोरी भोजन के रूप में लेते हैं, जब आपका शरीर रोज उतनी खर्च नहीं कर पाता है, तो शरीर में अतिरिक्त कैलोरी फैट के रूप में जमा होने लगता है, जिससे शरीर का वजन बढ़ने लगता है.मोटे होने का कारण :-अधिक वजन वाले व्यक्तियों के शरीर में अत्यधिक मात्रा में चर्बी  जमा हो जाती है। यह शरीर में धीरे-धीरे गलत दिनचर्या और अपच के कारण भी बनने लगती है. मोटे होने का लक्षण  किसी व्यक्ति का उचित वजन कितना होना चाहिए, यह बी.एम.आई. पर निर्भर करता है। बी.एम.आई. दो बातों पर निर्भर करती हैः- आप बीएमआई से अपने वजन की जांच कर सकते हैं। बी.एम.आई. का यह फार्मूला होता है- व

  • अगर आपकी बीएमआई 18.5 से कम है तो आप अंडरवेट माने जाएंगे


  • अगर आपकी बीएमआई 18.5 से 24.9 के बीच है तो आपका वजन सामान्य माना जाएगा


  • इसी तरह 25 से 29.9 तक की बी.एम.आई. होने पर ओवरवेट माना जाता है


  • 30 से ज्यादा की बी.एम.आई. होने पर ओबीज या मोटापा कहलाता है


वजन कम करने (मोटापा घटाने) के लिए घरेलू नुस्खे  मोटापा कम करने के लिए दालचीनी का सेवन:- 

  • दालचीनी पाउडर  पानी में डालकर 15 मिनट तक उबालें। गुनगुना होने पर इसे छानकर इसमें एक चम्मच शहद मिला लें सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले पियें दालचीनी एक शक्तिशाली एंटी-बैक्टीरियल है, जो नुकसानदायक बैक्टीरिया से छुटकारा दिलाने में मदद करती है.


  • वजन कम करने के लिए करें अदरक और शहद का प्रयोग अदरक अतिरिक्त वसा को जलाने का काम करते हैं अदरक अधिक भूख लगने की समस्या को भी दूर करता है तथा पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है इस योग को सुबह खाली पेट तथा रात को सोने से पहले लेना चाहिए वजन घटाने के लिए नींबू और शहद का उपयोग


  • एक गिलास पानी में आधा नींबू, एक चम्मच शहद एवं एक चुटकी काली मिर्च डालकर सेवन करें काली मिर्च में पाइपरीन ( नामक तत्व मौजूद होता है। यह नई वसा कोशिकाओं को शरीर में जमने नहीं देता है .नींबू में मौजूद एसकोरबिक एसिड  शरीर से विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है. इसमें प्रचुर मात्रा में विटामीन-सी पाया जाता है, जो एक उत्तम एंटी-ऑक्सीडेंट  है. यह शरीर से विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है। यह मेटाबोलिज्म बढ़ाने और कैलोरी बर्न करने में मदद करता है। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है.

गुनगुना पानी की आदत डालें

जीरा, धनिया, अजवायन और सौंफ के मिश्रण की चाय बनाकर पिएं. आप इसे भोजन के बाद पानी में उबालकर घूंट-घूंट भी पी सकते हैं।जीरा, धनिया, अजवायन और सौंफ के मिश्रण की चाय बनाकर पिएं। आप इसे भोजन के बाद पानी में उबालकर घूंट-घूंट भी पी सकते हैं.

वजन घटाने के लिए त्रिफला चूर्ण का प्रयोग

एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को रात में 200 मि.ली. पानी में भिगा दें। सुबह इसे आधा होने तक उबालें. गुनगुना होने पर इसमें दो चम्मच शहद मिलाकर पिएँ। कुछ ही दिनों में निश्चित ही वजन कम होगा। त्रिफला शरीर में मौजूद विषाक्त तत्वों को बाहर निकालता है.

वजन कम करने के लिए इलायची का सेवन

रात में सोते समय दो इलायची खाकर गर्म पानी पीने से वजन कम करने में सहायता मिलती है. इलायची पेट में जमा फैट को कम करती है, तथा कोर्सिटोल  लेवल जो की तनाव का मुख्य कारण है उसे नियंत्रित रखती है.

किन फल ,सब्जी,दाल  और अनाज का करे सेवन:-

अदरक, पपीता, करेला, जीरा, सरसों, सौंफ, अजवायन, काली मिर्च, सोंठ, पिप्पली, सहजन, पालक, चौलाई आदि पत्तेदार सब्जियां लौकी, तोरई, परवल, बींस, सलाद, पत्ता गोभी, खीरा, ककड़ी, गाजर, चुकंदर, सेब आदि लेने चाहिए।  जौ, बाजरा, रागी, मूंग दाल, मसूर, आंवला, नींबू, शहद, हल्दी, एलोवेरा जूस, आंवला जूस, ग्रीन टी, स्टीम किये हुये अंकुरित अनाज आदि का भी सेवन करना चाहिए। मौसम के अनुसार फल और सब्जी का सेवन करना चाहिए  कम वसा वाले दूध का सेवन करे. चीनी ,नमक और मैदा का जितना कम हो सके सेवन करे| गेहूँ के बने आटे और चावल से बने पदार्थ का कम उपयोग करे.

किन –किन चीजों का न करे सेवन :-

चावल ,आलू ,मिठाई ,कोल्डड्रिंक ,तले हुए खाद्य पदार्थ ,जंक फ़ूड ,चॅाकलेट,चीज ,बटर, प्रोसेस्ड फ़ूड ,मीट से परहेज करना चाहिए 

कौन –कौन सी बीमारी हो सकती है मोटापा के कारण :-

  • डायबिटीज ,उच्च रक्तचाप, कैंसर ,आर्थराइटिस ,दिल से संबंधित रोग होने के चांस बढ़ जाते है  

कैसे रहे फिट :-

रोज व्यायाम करे और कम से कम तीस मिनट तक टहले ,भरपूर मात्रा में पानी पियें  ,संतुलित आहार ले टहलने के लिए पार्क और जहाँ पेड़ –पौधे हो वहाँ दौड़ लगाये  प्रकृति के संपर्क में रहे योग जैसे की सूर्य नमस्कार ,कपालभाती , अनुलोम –विलोम ,भस्त्रिका को अपने दिनचर्या में शामिल करे साइकिलिंग,डांसिंग और अगर जिम करते करते है तो कम से कम आधे घंटे उसे समय दे .

Find Us on Facebook

Trending News