मजहब के नाम पर मर्डर, बहन ने की गैर-मुस्लिम से शादी तो नाराज भाई ने हिंदू पति की कर दी हत्या

मजहब के नाम पर मर्डर, बहन ने की गैर-मुस्लिम से शादी तो नाराज भाई ने हिंदू पति की कर दी हत्या

DESK. प्यार में जब मजहब दीवार बन गई तब लड़के लड़की ने परिवार के खिलाफ जाकर एक दूसरे से शादी कर ली. लेकिन बहन का एक गैर-मुस्लिम से विवाह करना भाई को इस कदर नागवार गुजरा कि उसने बहन के हिंदू पति की सरेराह हत्या कर दी. अब बहन अपने दरिंदे भाई को सजा दिलाने के लिए पुलिस और सरकार से गुहार लगा रही है. नागराजू और सुल्ताना पिछले 11 साल से एक दूसरे को जानते थे. धीरे-धीरे दोस्ती प्यार में बदली और उन्होंने शादी कर ली. लेकिन धर्म के बाहर जाकर की गई इस शादी को सुल्ताना का परिवार नहीं मान रहा था. दोनों ने तीन महीने पहले ही शादी की थी. 

मजहब के नाम पर मर्डर की यह घटना हैदराबाद में हुई. पीड़िता 23 वर्षीय आशरिन सुल्ताना ने शुक्रवार को अपनी दर्द भरी दास्तां सुनाई. सुल्ताना ने कहा कि उसने नागराजू नामक एक हिंदू युवक से 31 जनवरी को  शादी की थी. इससे उसके परिवार वाले नाराज थे. खासकर उसका भाई इस रिश्ते से खुश नहीं था. हालांकि नागराजू ने पहले कहा था कि वह मुस्लिम बन जाएगा और उससे शादी करेगा. बावजूद इसके सुल्ताना का भाई नागराजू से नाराज था. 


सुल्ताना ने कहा कि घटना के दिन 4 मई को वह नागराजू के साथ सड़क पर जा रही थी. तभी अचानक से उसका भाई सैयद मोबिन अहमद और मोहम्मद मसूद अहमद अपने दोस्त के साथ बाइक पर आया और अचानक से नागराजू को पीटने लगा. शुरू में सुल्ताना यह नहीं समझ सकी कि हमलावर युवक उसका भाई है. लेकिन बाद में उसने अपने भाई को पहचाना. सुल्ताना ने कहा कि उसका भाई और अन्य युवक नागराजू को पीटते रहे लेकिन वहां मौजूद भीड़ में कोई उन्हें बचाने नहीं आया. 

मजहब के नाम पर नागराजू की हुई इस हत्या से मर्माहत सुल्ताना ने शुक्रवार को कहा कि वह अपने हत्यारे भाई को सजा दिलाने के लिए पुलिस-प्रशासन से गुहार लगा रही है. उसने कहा कि नागराजू की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी गई क्योंकि वह गैर मुस्लिम था. इसके लिए वह अपने भाई को सजा दिलाना चाहती है. 


Find Us on Facebook

Trending News