बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

LATEST NEWS

मुस्लिम महिला पहली बार जीती विधायक चुनाव और आशीर्वाद लेने पहुंची दुर्गा मंदिर, सियासी गलियारों में चर्चा तेज

मुस्लिम महिला पहली बार जीती विधायक चुनाव और आशीर्वाद लेने पहुंची दुर्गा मंदिर, सियासी गलियारों में चर्चा तेज

DESK: ओडिशा के लोकसभा और विधानसभा के चुनावी नतीजे ने सबतो चौंका दिया है। ओडिशा के विधानसभा चुनाव में 24 साल से सत्ता में बने रहे नवीन पटनायक की करारी हार हुई। जिसके बाद पहली बार भाजपा राज्य में सरकार बना रही है। मालूम हो कि नवीन पटनायक की पार्टी बीजू जनता दल लोकसभा चुनाव में खाता भी नहीं खोल पाई है। वहीं विधानसभा में महज 51 सीट ही हासिल कर सकी है। 



बता दें कि ओडिशा में 21 लोकसभा सीट और 147 विधानसभा सीटें हैं। बीजेपी की बात करें तो वो 20 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करने के साथ 78 विधानसभा सीटों पर जीत हासिल करके पहली बार राज्य में सरकार बना रही है। लेकिन राज्य में एक कांटे की टक्कर के बाद पहली बार एक मुस्लिम महिला को विधायक चुना है। सोफ़िया फ़िरदौस ओडिशा की पहली मुस्लिम महिला विधायक, अपनी पार्टी कांग्रेस के लिए उम्मीद जगाती दिख रही हैं। बीजू जनता दल और भारतीय जनता पार्टी की टक्कर वाले इस चुनाव में कांग्रेस पार्टी रेस में भी नहीं थी, लेकिन बारबाटी-कटक सीट से कांग्रेस उम्मीदवार की जीत लगातार सुर्ख़ियों में है।



32 साल की सोफ़िया फ़िरदौस युवा और पढ़ी लिखी महिला हैं। राज्य में बीजेपी की लहर के बावजूद सोफ़िया आठ हज़ार से अधिक मत से विधानसभा का चुनाव जीतने में कामयाब हुईं। कांग्रेस पार्टी को इस बार राज्य विधानसभा चुनाव में 14 सीटें मिली हैं, जो पिछले चुनाव की तुलना में पांच अधिक हैं। वहीं सोफ़िया फ़िरदौस बताती हैं कि चुनाव में जीत हासिल करने के बाद सबसे पहले उन्होंने दुर्गा मंदिर में आशीर्वाद लिया। 



उन्होंने कहा, "मैं एक क्रिश्चियन स्कूल से पढ़ी लिखी हूं और चर्च जाती रही हूं। कटक के लोग बेहद इमोशनल हैं। मैंने खुद को कभी अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्य के तौर पर नहीं देखा। मेरा चुनावी नारा ही था- कटक की बेटी, कटक की बहू।" मालूम हो कि, सोफिया फिरदौस ने इतिहास रचते हुए ओडिशा की पहली महिला मुस्लिम विधायक बनने का गौरव प्राप्त किया है। सोफिया फिरदौस का जन्म ओडिशा के एक छोटे से गांव में हुआ था। उनके परिवार का हमेशा से शिक्षा और समाजसेवा में गहरा विश्वास रहा है। सोफिया ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गांव के ही सरकारी स्कूल से पूरी की और बाद में उच्च शिक्षा के लिए भुवनेश्वर गईं। 



उन्होंने राजनीति विज्ञान में स्नातक और समाजशास्त्र में परास्नातक की डिग्री प्राप्त की। सोफिया फिरदौस एक राजनीतिक परिवार से आती है। सोफिया ने बाराबती-कटक सीट सससे चुनाव जीता है. सोफिया फिरदौस आईआईएम बेंगलोर से पढ़ी हैं। वे खुद को इंटरप्रिन्योर कहती है। फिरदौस अभी तक क्रेडाई भुवनेश्वर की अध्यक्ष थीं। वह ओडिशा के बड़े मेट्रो ग्रुप की डायरेक्टर हैं। सोफिया मौजूदा विधायक मोहम्मद मोकिम की बेटी हैं। सोफिया फिरदौस के पति शेख मेराज उल हक हैं, जो एक बिजनेसमैन हैं। सोफिया फिरदौस इंडिया ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल की भुवनेश्वर चैप्टर की सह-अध्यक्ष भी हैं।


Suggested News