अब एक की जगह होंगे नगर विकास एवं आवास विभाग के सभी कार्यालय, नए नगर विकास भवन का होगा निर्माण

अब एक की जगह होंगे नगर विकास एवं आवास विभाग के सभी कार्यालय, नए नगर विकास भवन का होगा निर्माण

PATNA : नगर विकास एवं आवास विभाग के अंतर्गत वर्तमान में 142 नगर निकाय थे, जिसके अलावा मार्च महीने में 117 नए नगर निकायों का गठन किया गया है. साथ ही इसके अलावा कई नगर पंचायतों को नगर परिषद में उत्क्रमण किया गया है. साथ ही कई नगर परिषदों को नगर निगम में उत्क्रमण किया गया है. कई नगर निकायों का क्षेत्र विस्तार किया गया है. 

इसके साथ-साथ नगर विकास एवं आवास विभाग के अंतर्गत 2 निदेशालयों का भी गठन करते हुए उसे क्रियाशील बनाने का प्रस्ताव है. इन दोनों निदेशालयों में निदेशक के साथ-साथ संयुक्त निदेशक, उप निदेशक इत्यादि के पदों का सृजन भी किया जा रहा है. इसके साथ ही नगर विकास एवं आवास विभाग के मुख्यालय में भी नए प्रशाखाओं के गठन तथा नए पदों का सृजन भी किया जा रहा है. इस प्रकार नगर विकास एवं आवास विभाग के अंतर्गत पदाधिकारियों एवं कर्मियों की संख्या में काफी वृद्धि होगी. इसके अलावा स्वच्छ भारत मिशन एवं अन्य कार्यक्रमों में भी कंसल्टेंट इत्यादि की संख्या बढ़ाने के साथ-साथ संबंधित कार्यों के लिए भी कई विशेषज्ञों को रखने हेतु अखबारों में विज्ञापन आमंत्रित किए गए हैं, ताकि पटना महानगर के अंतर्गत विभिन्र योजनाओं एवं मास्टर प्लान इत्यादि को सुचारू रूप से क्रियान्वित किया जा सके. वर्तमान में नगर विकास एवं आवास विभाग का कार्यालय कई जगहों पर कार्यरत है, जिसमें प्रमुख रूप से विकास भवन अवस्थित नया सचिवालय में कई कमरों का उपयोग किया जा रहा है. इसके अलावा हड़ताली मोड़ पर अवस्थित इंदिरा भवन तथा पंत भवन में भी अलग-अलग फ्लोर पर नगर विकास एवं आवास विभाग का कार्यालय कार्यरत है. साथ ही शास्त्रीनगर में अवस्थित बिहार राज्य भवन निर्माण निगम के भवन में भी पटना महानगर क्षेत्र प्राधिकार का कार्यालय कार्यरत है. किन्तु सभी कार्यालयों में जगह की कमी होने के कारण कार्य में कठिनाई होती है तथा अलग-अलग जगहों पर कार्यालय होने से कार्य के निष्पादन में भी समस्या होती है. 

नगर विकास एवं आवास विभाग के विभिन्न कार्यालयों के लिए समेकित रूप से ‘‘नगर विकास भवन‘‘ बनाया जाना है, जिसके लिए आज प्रधान सचिव द्वारा स्थल निरीक्षण किया गया. स्थल निरीक्षण के क्रम में निम्नवत निदेश दिए गए:-

 इस भवन का निर्माण ए॰एन॰ काॅलेज के पीछे अवस्थित लगभग 2 एकड़ जमीन में किया किए जाने का निदेश दिया गया. अभी वर्तमान में ए॰एन॰ काॅलेज के पीछे के परिसर में 2 पानी टंकी बने हुए हैं. इसके अलावा वहाँ पटना नगर निगम के पाटलिपुत्र अंचल का ट्रांसफर स्टेशन एवं कचरा संग्रहण केन्द्र बना हुआ है. प्रधान सचिव द्वारा निदेश दिया गया कि ट्रांसफर स्टेशन एवं कचरा संग्रहण केन्द्र को इस स्थान से हटाकर अन्यत्र शिफ्ट किया जाए.  यह भवन 4 मंजिला होगा. इस भवन का निर्माण लगभग एक लाख वर्गफीट क्षेत्रफल में किए जाने का निदेश दिया गया. वहीँ यह भवन आधुनिक तकनीक से सुसज्जित बनाया जाएगा. इस भवन के सभी भागों में सीसीटीवी कैमरा का प्रावधान करने का निदेश दिया गया, ताकि आने-जाने वाले लोगों पर नजर रखा जा सके तथा इसके निगरानी हेतु प्रधान सचिव तथा वरीय पदाधिकारियों के कक्ष में कंट्रोल रूम बनाया जाएगा. साथ ही प्रत्येक कक्ष में इंटरकाॅम की सुविधा उपलब्ध कराते हुए सभी कमरों को पूरी तरह कम्प्यूटरीकृत किया जाएगा. इस भवन के निर्माण में सुरक्षा हेतु आधुनिक उपकरणों के साथ-साथ भूकंपरोधी तथा आपदा प्रबंधन के प्रावधानों को भी समाहित करने का निदेश दिया गया.     इस ‘‘नगर विकास भवन‘‘ में नगर विकास एवं आवास विभाग के अंतर्गत वर्तमान में कार्यरत विकास भवन, पंत भवन, इंदिरा भवन एवं शास्त्रीनगर में अवस्थित कार्यालयों को एक ही भवन में शिफ्ट किया जाएगा.  

जिस प्रकार पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा एयरपोर्ट के निकट ‘‘अरण्य भवन‘‘ का निर्माण किया गया है, श्रम संसाधन विभाग द्वारा आयकर गोलम्बर के पास ‘‘नियोजन भवन‘‘ का निर्माण किया गया है एवं जिस प्रकार गृह विभाग द्वारा चिड़ियाघर के सामने ‘‘सरदार पटेल भवन‘‘ का निर्माण किया गया है, उसी तर्ज पर नगर विकास एवं आवास विभाग के लिए ‘‘नगर विकास भवन‘‘ का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है, जहाँ नगर विकास एवं आवास विभाग के सभी कार्यालयों को एक ही परिसर में शिफ्ट किया जाएगा. इस नए भवन में सभी कार्य कम्प्यूटर के माध्यम से किए जाएंगे. इस भवन के सभी कमरों में पदाधिकारियों एवं कर्मियों को कम्प्यूटर की सुविधा दी जाएगी तथा सभी कार्य ई-ऑफिस के माध्यम से होंगे. विगत 6 माह से नगर विकास एवं आवास विभाग तथा पटना मेट्रो रेल काॅरपोरेशन के सभी कार्यों को ई-आॅफिस के माध्यम से कम्प्यूटरीकृत किया जा रहा है. अतः इस नए भवन में भी सभी कार्यों को ई-आॅफिस के माध्यम से किया जाएगा. इस ‘‘नगर विकास भवन‘‘ का निर्माण बिहार राज्य भवन निर्माण निगम लि॰ द्वारा कराया जाना है. आज निरीक्षण के क्रम में प्रधान सचिव के साथ बिहार राज्य निर्माण निगम लि॰ के मुख्य महाप्रबंधक सुधांशु शेखर राय, कार्यपालक अभियंता आशुतोष कुमार, सीनीयर आर्किटेक्ट प्रदीप कुमार के साथ-साथ पटना नगर निगम केे अपर नगर आयुुक्त शीला ईरानी एवं अपर नगर आयुक्त देवेन्द्र तिवारी तथा पाटलिपुत्र अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी प्रतिभा कुमारी, नूतन राजधानी अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी कुमार पंकज एवं पटना नगर निगम के कार्यपालक अभियंता अविनाश कुमार इत्यादि मौजूद थे. इस भवन के बन जाने से नगर विकास एवं आवास विभाग के सभी कार्यालय एक परिसर में अवस्थित हो जाएंगे. इसका निर्माण इस प्रकार से किया जा रहा है कि भविष्य में नगर विकास एवं आवास विभाग के अन्य कार्यालय भी इसमें शिफ्ट हो सकेंगे. 

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News