नागी-नकटी डैम में हर साल मनेगा राजकीय पक्षी महोत्सव, 15 को सीएम करेंगे कार्यक्रम का शुभारंभ

नागी-नकटी डैम में हर साल मनेगा राजकीय पक्षी महोत्सव, 15 को सीएम करेंगे कार्यक्रम का शुभारंभ

जमुई।  झाझा प्रखंड अतंर्गत प्रकृति की गोद में बसे नागी-नकटी डैम को अब राष्ट्रीय पहचान मिलने वाली है। नागी-नकटी डैम को राष्ट्रीय पहचान नए साल के तीसरे सप्ताह के प्रारंभ में मिलने जा रहा है। नए साल के तीसरे सप्ताह में 15 जनवरी से 17 जनवरी तक तीन दिनों तक नागी-नकटी डैम में राजकीय पक्षी महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है जिसका उद्घाटन सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे।

राजकीय पक्षी महोत्सव “कलरव” के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए झाझा से जेडीयू विधायक दामोदर रावत ने कहा कि वन, पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन विभाग ने प्रकृति की गोद में बसे नागी-नकटी डैम में कलरव मनाने का निर्णय लिया। झाझा विधायक ने कहा कि 15 जनवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दोपहर 12 बजे राजकीय पक्षी महोत्सव का उद्घाटन करने के साथ-साथ नागी-नकटी राष्ट्रीय पक्षी अभयारण्य के लोगो का भी उद्घाटन करेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पक्षी गांव और महोत्सव में लगाए गए स्टॉल का भी निरीक्षण करेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस अवसर पर पक्षी संरक्षण दिया को भी जलाएंगे और एक सभा को भी सोबोधित करेंगे।

जेडीयू विधायक दामोदर रावत ने कहा कि राजकीय पक्षी महोत्सव में सूबे के उप-मुख्यमंत्री भी शिरकत करेंगे। उन्होंने कहा कि राजकीय पक्षी महोत्सव में लोक गायिका मैथिली ठाकुर अपनी गीतों से महोत्सव में चार चांद लगा देंगी। उन्होंने कहा कि तीन दिनों तक चलने वाले इस राजकीय पक्षी महोत्सव में कई रंगारंग कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया है। उन्होंने कहा कि इस महोत्सव में सूबे के अलावा देश के नामी-गिरामी और अनुभवी पक्षी वैज्ञानिक और बॉम्बे नेचुरल हिस्ट्री सोसायटी के वैज्ञानिकों द्वारा आम लोगों औय युवाओं को प्रशिक्षित भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश के प्रकृति प्रेमियों, वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों के बीच शोध और प्रशिक्षण सत्रों के अलावा पक्षियों का संरक्षण मनुष्य़ के जीवन के कितना आवश्यक है इस पहलू पर इस महोत्सव में विशेष ध्यान दिया जाएगा।

झाझा विधायक ने कहा कि राजकीय पक्षी महोत्सव हर साल नागी-नकटी डैम में मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि राजकीय पक्षी महोत्सव को यादगार बनाने के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ-साथ वन, पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा भी तैयारियां जोरों पर है।

बता दें बिहार से सीएम नीतीश कुमार का प्रकृति प्रेम जगजाहिर है। बुधवार को ही वह राजधानी जलाशय में जुटे प्रवासी पक्षियों को देखने के लिए पहुंचे थे। जहां पक्षियों की बढ़ी संख्या को लेकर उन्होंने खुशी जाहिर की थी। 

Find Us on Facebook

Trending News