नालंदा में तीन दिनों बाद मिला किसान का शव, जमीनी विवाद में भाईयों पर हत्या का आरोप

नालंदा में तीन दिनों बाद मिला किसान का शव, जमीनी विवाद में भाईयों पर हत्या का आरोप

Nalanda: हिलसा थाना इलाके के पेंदापुर गांव के खंधे से किसान का शव मिलने से सनसनी मच गयी. किसान अरुण कुमार पिछले तीन दिनों से लापता थे. परिजन भूमि विवाद में गोतिया के लोगों पर हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं.

हालांकि कुछ लोग करंट से मौत होने की भी चर्चा कर रहे हैं. शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजन को सौंप दिया गया है. पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है. अरुण शुक्रवार की शाम को घर से निकले थे. उसके बाद से वह नहीं लौटे. परिजन खोजबीन में लगे थे. कहीं कुछ पता नहीं चला तो शनिवार को हिलसा थाना को सूचना दी गयी. उसके बाद पुलिस भी उनकी तलाश में लगी थी.

रविवार की सुबह गांव के पास बिचला खंधा में किसानों ने उनकी लाश देखकर परिजन को सूचना दी. पत्नी पार्वती देवी ने वर्षों से चल रहे भूमि विवाद के कारण हत्या का आरोप लगाया है. थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद ने बताया कि प्रारंभिक जांच में करंट से मौत की बात सामने आयी है. पुलिस सभी बिंदुओं को सामने रखकर मामले की जांच कर रही है. पैतृक जमीन के बंटवारे को लेकर तीन भाइयों श्रवण प्रसाद, शिव प्रसाद और अरुण कुमार के बीच वर्षों से विवाद चल रहा है. दो साल पहले मंझले भाई शिव प्रसाद की हत्या हो गयी थी. इस मामले में छोटे भाई अरुण और उनके दो पुत्रों को भी अभियुक्त बनाया गया था. अरुण का बड़ा पुत्र पल्लू अभी भी जेल में ही है. मंझले के बाद छोटे भाई की भी अब मौत हो चुकी है. परिजन आशंका जता रहे हैं कि बदले की कार्रवाई में घटना को अंजाम दिया गया है.  


Find Us on Facebook

Trending News