नीतीश खुद हैं बिहार के लिए सबसे बड़ी समस्या ... भाजपा का हमला - यात्रा से नहीं गद्दी छोड़ने से होगा समस्याओं का समाधान

नीतीश खुद हैं बिहार के लिए सबसे बड़ी समस्या ... भाजपा का हमला - यात्रा से नहीं गद्दी छोड़ने से होगा समस्याओं का समाधान

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद ही बिहार के लिए एक समस्या हैं. ऐसे में उन्हें समाधान यात्रा करने के बदले अपनी मुख्यमंत्री की गद्दी छोड़ देनी चाहिए. इससे खुद-ब-खुद बिहार की समस्याओं का समाधान हो जाएगा. सीएम नीतीश की 5 जनवरी से शुरू हो रही समाधान यात्रा पर यह तंज कसा है भाजपा प्रवक्ता डॉ राम सागर सिंह ने. उन्होंने बुधवार को कहा कि समाधान तो समस्याओं का होता है. यहां तो नीतीश कुमार खुद ही बिहार के लिए समस्या बन गए हैं. तो वे समाधान कहां से दे सकते हैं? 

उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश ने पूर्व में भी कई यात्राएं की. उनकी इतनी यात्राओं के बाद भी बिहार में समस्याओं का अम्बार लगा हुआ है. नीतीश से बिहार की समस्याओं का समाधान नहीं हो सकता है. नीतीश खुद ही बिहार के लिए एक समस्या बन गए हैं. नीतीश गद्दी छोड़कर ही उसका समाधान कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार गद्दी छोड़ दें और किसी को सौंपिए, समस्याओं का समाधान खुद - ब- खुद हो जाएगा. उन्हें यात्रा करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. 

डॉ रामसागर ने कहा कि बिहार में किसानों के सामने यूरिया की समस्या है. राजद द्वारा उठाये गए सवालों की समस्या है. जीतन राम मांझी द्वारा शराबबंदी पर समस्या के समाधान का सवाल है. माले द्वारा राज्य में प्रशासनिक अराजकता का सवाल है. कहीं ऐसा तो नहीं उन समस्याओं का समाधान होता नहीं देख नीतीश कुमार उन समस्याओं से भागने का तरीका समाधान यात्रा द्वारा निकाले हैं.

दरअसल, नीतीश की समाधान यात्रा की व्यवहार्यता पर भाजपा की ओर से लगातार सवाल किए जा रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 5 जनवरी को पश्चिम चम्पारण से यात्रा की शुरुआत करेंगे.  6 तारीख को शिवहर और सीतामढ़ी में भ्रमण करेंगे और शाम में वापस पटना लौट जाएंगे .7 तारीख को वैशाली रहेंगे और शाम में फिर वापसी का कार्यक्रम है. 8 तारीख को सिवान में तीनों कार्यक्रम में शामिल होंगे।  9 तारीख को सारण, 11 तारीख को मधुबनी में रहेंगे. 12 तारीख को दरभंगा में कार्यक्रम कर वापस पटना लौटना है. 12 जनवरी के बाद 17 जनवरी को नीतीश कुमार समाधान यात्रा पर जायेंगे। इस दिन  सुपौल में कार्यकम करेंगे और सहरसा में रात्रि विश्राम करेंगे. 

18 तारीख को सहरसा में कार्यक्रम होगा और अररिया में रात्रि विश्राम करेंगे। 19 तारीख को अररिया में भ्रमण कार्यक्रम और किशनगंज में रात्रि विश्राम. 20 तारीख को किशनगंज में कार्यक्रम करेंगे और पूर्णिया में रात्रि विश्राम करेगे। 21 तारीख को कटिहार का कार्यक्रम है और खगड़िया में रात्रि विश्राम करेंगे. 22 तारीख को खगड़िया में कार्यक्रम कर वापस पटना लौट आएंगे. 28 तारीख को बांका में कार्यक्रम होगा और मुंगेर में रात्रि विश्राम करेंगे. 29 तारीख को मुंगेर लखीसराय और शेखपुरा जिले का कार्यक्रम होगा और फिर वापस पटना लौट जाएंगे.


Find Us on Facebook

Trending News