बिहार के मौजूदा शिक्षा मॉडल को नीतीश के शिक्षा मंत्री ने बताया चिंताजनक, कहा- व्यापक सुधार की जरुरत

बिहार के मौजूदा शिक्षा मॉडल को नीतीश के शिक्षा मंत्री ने बताया चिंताजनक, कहा- व्यापक सुधार की जरुरत

पटना. बिहार की वर्तमान शिक्षा व्यवस्था पर प्रदेश के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने चिंता जातई है। उन्होंने मौजूदा शिक्षा मॉडल को चिंताजनक बताते हुए कहा कि इसमें बड़ी सुधार की जरुरत है। उन्होंने कहा कि बिहार की शिक्षा में सुधार के लिए विभाग काम में जुट गया है। दिल्ली की केजरीवाल मॉडल समेत कई मॉडल को अध्ययन किया जाएगा। इसमें बेहतर मॉडल को चुनकर बिहार में लागू किया जाएगा।

वहीं उन्होंने बिहार में प्राथिमक शिक्षकों के सतवे चरण की बहाली पर कहा कि सरकार इसके लिए संकल्पित है। जल्द ही बिहार में सातवे चरण की नियुक्ती की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि सातवे, आठवे या नौवे चरण जो भी हो, सभी को पूरा किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि एसटीईट को भी नौकरी दी जाएगी। उन्होंने कहा, मेरी शिक्षक संघों के प्रतिनिधियों से बात हुई है। उन्हें आश्वासन दिया गया है कि शिक्षक लोग अपना काम करें, सरकार अपना काम पूरी करेगी।

उन्होंने कहा कि बिहार में शिक्षा का बजट 50 करोड़ से अधिक का है, लेकिन इसका सही से यूज नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को विद्यार्थियों की शिक्षा पर ध्यान देने होगा। बिना शिक्ष के बिहार आगे नहीं बढ़ सकता है। वहीं उन्होंने भाजपा और संघ पर हमला बोलते हुए कहा कि हम सामाजिक सदभाव में विश्वास करते हैं। हम समाज को तोड़ने का नहीं, जोड़ने का काम करते हैं। जिन्हें सवारकर को मानना है, वे माने। हमें अंबेडकर के विचारों को अपना कर बिहार को आगे बढ़ाना है। 


Find Us on Facebook

Trending News