नियोजित शिक्षकों को अब वेतन के लिए नहीं करना होगा इंतजार,सरकारी खजाने में राशि की कमी नहीं...

नियोजित शिक्षकों को अब वेतन के लिए नहीं करना होगा इंतजार,सरकारी खजाने में राशि की कमी नहीं...

पटनाः बिहार विधानपरिषद में डिप्टी सीएम ने कहा कि अब शिक्षकों को वेतन के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा।वेतन के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है।आज वेतन भुगतान के लिए कर्ज नहीं लिया जाता ।अगर आज हम कर्ज लेते हैं बिहार के विकास के लिए ।

राजद पर तंज कसते हुए डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि आज से 15 साल पहले वेतन के लिए भी कर्ज लिए जाते थे।पहले की सरकार में कर्मचारियों के वेतन के लिए भी पैसे नहीं होते थे।

सुशील मोदी ने कहा कि आज बिहार के शिक्षकों एवं अन्य कर्मियों के वेतन भुगतान के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है।कुछ तकनीकी खामी की वजह से शिक्षकों के वेतन भुगतान में थोड़ी परेशानी हुई है।लेकिन अगले एक से डेढ महीने में शिक्षकों का वेतन नियत समय पर खाते में भुगतान होने लगेगा।

विधानपरिषद में बजट पर चर्चा करते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि पहले और आज में बहुत अंतर आ गया है।पहले की सरकार में मार्च लूट होती थी।पहले के दौर में मार्च महीने में ट्रेजरी में बड़े पैमाने पर अवैध निकासी होती थी।लेकिन आज सबकुछ बदल गया है।कोई चाहकर भी ट्रेजरी में इधर-उधर नहीं कर सकता।अब मार्च लूट जैसे शब्द इतिहास की बातें हो गई हैं।मीडिया के लोग भी अब इस शब्द को भूल गए हैं।

अब कोई राज्य चाहकर भी अधिक कर्ज नहीं ले सकता

विधानपरिषद में बजट पर सरकार की तरफ से जवाब देते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि अब कोई राज्य चाहकर भी अधिक कर्ज नहीं ले सकता।क्यों कि केंद्र सरकार का स्पष्ट गाईडलाईन है।मोदी ने सदन में जानकारी दी कि इस बार बिहार सरकार 24 हजार 420 करोड़ रू कर्ज ले सकती है..उससे अधिक कर्ज नहीं लिया जा सकता।

Find Us on Facebook

Trending News