सिवान में शहाबु्द्दीन के बेटे ओसामा नहीं, बल्कि यह होंगे जदयू का अल्पसंख्यक चेहरा! लगने लगे हैं कयास

सिवान में शहाबु्द्दीन के बेटे ओसामा नहीं, बल्कि यह होंगे जदयू का अल्पसंख्यक चेहरा! लगने लगे हैं कयास

SIWAN : सिवान में इस वक्त की सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है जहाँ जिले के चर्चित खान ब्रदर्स के रईस खान आज सुबह अपने आवास से हजारो समर्थको के साथ सभी प्रखंडो में घूम अपने समर्थकों से मुलाकात करने में जुटे हुए रहे है। बता दे कि पिछले कई दिनों से यह कयास लगाया जा रही है कि कि रइस खान जदयू में शामिल हो सकते हैं।  जिले के  बड़हरिया के पूर्व विधायक और नीतीश कुमार के करीबी माने जाने वाले श्याम बहादुर सिंह से रइस खान कई बार मिल चुके हैं और लगभग उनको जदयू में आना तय माना जा रहा है।  जिसको लेकर जिले के राजनीतिक गलियारे में कयासों का बाजार गर्म है  ।

गौरतलब है कि श्याम बहादुर सिंह के द्वरा प्रयास चल रहा है उन्होंने कहा कि इसके लिए वह मुख्यमंत्री से बात करेंगे। क्योंकि सिवान में जदयू एक कद्दावर अल्पसंख्यक नेता की तलाश में है। ताकि पार्टी के पक्ष में अल्पसंख्यक मतों के रूझान को बढ़ाया जा सके। ऐसे में अगर रइस खान जदयू में शामिल होते हैं तो यह आश्चर्य की बात नहीं होगी। वहीं रइस खान ने बताया कि जदयू में मेरे छोटे भाई बहुत  दिनों तक रहे हैं। हमारा जदयू से पुराना सम्बन्ध है और इस दल के जो भी नेता है उनसे भी खासकर श्यामबहादुर जी से अच्छे ताल्लुकात है। उनसे मुलाकात हमारी एक शिष्टाचार के नाते होती रहती है अगर पार्टी लायक समझेगी तो राजनीति में आने की जरूर कोशिश करूँगा।

 वैसे सिवान में अल्पसंख्यक नेता के लिए जदयू पूर्व सांसद मरहुम मो.  शहाबुद्दीन के पुत्र ओसामा  को भी अपने पाले में लेने के लिए काफी प्रयासरत रही है । लेकिन बात नही ंबनने के कारण जदयू को हर बार निराशा ही हाथ लगी है।ऐसे में रइस खान यानी खान ब्रदर्स को भी सिवान के अल्पसंख्यको में काफी अच्छी पकड़ है यह तय सही है कि सिवान में रइस खान के जदयू जॉइन करने से पार्टी को काफी मजबूती मिलेगी। आपको बता दे कि रइस खान पर दर्जनों आपराधिक मामले दर्ज थे और काफी लंबे समय तक जेल काटने के बाद न्यायालय द्वारा बरी हो चुके हैं।


Find Us on Facebook

Trending News