हमारे नेता की पढ़ाई नहीं, केंद्र से पूछे कैसे तैयार की गई नीति आयोग की रिपोर्ट, तेजस्वी की समझ पर सवाल उठानेवालों को मिला जवाब

हमारे नेता की पढ़ाई नहीं, केंद्र से पूछे कैसे तैयार की गई नीति आयोग की रिपोर्ट, तेजस्वी की समझ पर सवाल उठानेवालों को मिला जवाब

PATNA : बिहार में विकास के दावों की पोल खोलती नीति आयोग की रिपोर्ट सामने आने के बाद सरकार पूरी तरह से घिर गई है। विपक्ष लगातार सरकार के काम पर सवाल उठा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद सरकार की तरफ से विपक्ष की समझ पर ही सवाल उठा दिए गए हैं। जहां बिहार के मंत्री अशोक चौधरी नीति आयोग की रिपोर्ट को समझने के लिए तेजस्वी की कम शिक्षा को जिम्मेदार बता रहे हैं। वहीं अब राजद की तरफ से भी तेजस्वी के बचाव में सरकार पर हमला शुरू हो गया है।

राजद के विधायक भाई विरेंद्र ने तेजस्वी की समझ पर सवाल उठानेवालों को करारा जबाव देते हुए कहा है कि अगर हम पढ़े लिखे नहीं होते तो हमें नीती आयोग की रिपोर्ट की समझ नहीं होती। जो लोग ऐसा कह रहे हैं उन्हें पहले केंद्र से जाकर पूछना चाहिए कि यह रिपोर्ट तैयार करने का आधार क्या है। बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र में पहुंचे भाई विरेंद्र ने कहा कि बिहार में सिर्फ एक ही काम हैं, जिसमें वह अव्वल है, वह है अपराध। अपराध के मामले में बिहार सभी राज्यों की तुलना में सबसे अधिक है।


नीतीश कुमार के आसपास मौजूद लोग चलाते हैं शराब का धंधा

राजद विधायक के डेहरी के विधायक के होटल से बरामद शराब की बोतलों का बचाव करते हुए कहा कि बिहार में जब शराबबंदी कानून लागू की गई, तो उस समय महागठबंधन की सरकार थी। हमारे नेता ने शुरू में ही कहा था कि इसे लागू करने में सावधानी बरतने की आवश्कता है, लेकिन आनन फानन में इसे लागू कर दिया गया। आज स्थिति सबके सामने है। भाई विरेंद्र ने कहा कि बिहार में शराबबंदी इसलिए कामयाब नहीं हो पा रही है कि क्योंकि सीएम के आसपास रहनेवाले लोग ही इस धंधे में पूरी तरह से लिप्त हैं। पांच साल इस कानून को पूरे हो चुके हैं, ऐसे में अब इस कानून की समीक्षा कर इसमें बदलाव की जरुरत है।

Find Us on Facebook

Trending News