NOTA पड़ी दूसरी छोटी पार्टियों पर भारी! मोकामा में तीसरे स्थान पर तो गोपालगंज में राजद की हार की वजह बनी

NOTA पड़ी दूसरी छोटी पार्टियों पर भारी! मोकामा में तीसरे स्थान पर तो गोपालगंज में राजद की हार की वजह बनी

PATNA :गोपालगंज में भाजपा को भले ही जीत मिल गई हो, लेकिन इस जीत पर भाजपा को वैसी कामयाबी नहीं मिली है, जैसा कि पिछले चुनाव में मिली थी। यहां जीत हार के बीच के वोटों का अंतर सिर्फ 1794 है। जबकि नोटा 2170 वोट मिले हैं। इस प्रकार नोटा को हार-जीत के अंतर से 376 मत अधिक मिले। स्पष्ट है कि नोटा से जीत-हार में बड़ा असर डाला है। माना जा रहा है कि अगर यह वोट किसी पार्टी को पड़ते तो चुनाव परिणाम बदल भी सकता था।

पिछली बार से अधिक वोट नोटा में

पिछली बार वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव में नोटा को महज 1028 वोट मिले थे। जबकि, भाजपा उम्मीदवार को 36 हजार से अधिक मतों से जीत मिली थी। तब नोटा से चुनाव परिणाम पर कोई असर नहीं डाला था।

मोकामा में तीसरे स्थान पर नोटा

उधर, मोकामा विधानसभा चुनाव में नोटा ने भले चुनाव परिणाम पर कोई असर न डाला हो, लेकिन उसे महागठबंधन और एनडीए उम्मीदवारों के बाद सर्वाधिक वोट मिला। वह तीसरे स्थान पर रहा। मोकामा में नोटा को 2470 वोट मिले। राजद और भाजपा उम्मीदवारों के अलावा किसी प्रत्याशी को इतना वोट नहीं मिला।


Find Us on Facebook

Trending News