पटना एम्स की नर्सिंग स्टाफ ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, सुसाइड नोट में बताया कारण, जांच में जुटी पुलिस

पटना एम्स की नर्सिंग स्टाफ ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, सुसाइड नोट में बताया कारण, जांच में जुटी पुलिस

पटना. पटना एम्स की नर्सिंग स्टाफ ने सोमवार को वृंदावन कॉलोनी स्थित किराए के मकान में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मरने से पहले उन्होंने एक सुसाइड नोट भी लिखा था, जिसमें अपने मरने का कारण अमित टोप्पो पर लगाया है।

मिली जानकारी के अनुसार पटना एम्स की नर्सिंग स्टाफ उषा रानी लकड़ा (28) वर्ष पिछले कुछ वर्षों से वृंदावन कॉलोनी के एक किराए के मकान में रह रही थी। सोमवार को फुलवारी शरीफ पुलिस को सूचना मिली कि उषा रानी लकड़ा पंखे से झूल कर आत्महत्या कर ली। मौके पर पहुंची पुलिस ने उषा रानी लकड़ा का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पुलिस ने घटनास्थल से उषा रानी लकड़ा के द्वारा लिखा गया एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है। मरने से पहले उन्होंने सुसाइड नोट में सॉरी मां, सॉरी बाबा, मेरे मरने का कारण सिर्फ अमित टोप्पो है सन ऑफ शीतल टोप्पो,  उषा गंदी लड़की लिखा है।

फुलवारी शरीफ थाना प्रभारी इकरार अहमद ने बताया कि उषा रानी लकड़ा मूल रूप से ग्राम -चेरा, गुमला, झारखंड की रहने वाली है। उषा पटना एम्स में नर्स के रूप में कार्यरत थी। उन्होंने बताया कि छानबीन से यह पता चलता है कि उषा किसी अमित टोप्पो से प्यार करती थी। उन्होंने आशंका जताई है कि संभव हो अमित से किसी बात को लेकर विवाद हो गया है और इसी को लेकर उसने सोमवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना के बाद वृंदावन कॉलोनी में अफरा तफरी का माहौल बन गया। फुलवारी शरीफ थाना प्रभारी ने बताया कि घटना की जानकारी उषा के पिता विलचूस लकड़ा को दे दी गई है।

Find Us on Facebook

Trending News