बडगाम में कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद आक्रोश, पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को किया गया नजरबंद

बडगाम में कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद आक्रोश, पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को किया गया नजरबंद

DESK. पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया कि बडगाम की यात्रा से पहले उन्हें नजरबंद कर दिया गया था, जहां उन्होंने कहा कि वह विरोध कर रहे कश्मीरी पंडितों के साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिए जाना चाहती थीं। उन्होंने ट्वीट में कहा कि भारत सरकार द्वारा उनकी रक्षा करने में विफलता का विरोध कर रहे कश्मीरी पंडितों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करने के लिए बडगाम का दौरा करना चाहती थी। उन्हें नजरबंद कर दिया गया है क्योंकि तथ्य यह है कि कश्मीरी मुसलमान और पंडित एक-दूसरे के दर्द के प्रति सहानुभूति रखते हैं, यह उनके शातिर सांप्रदायिक आख्यान में फिट नहीं होता है।

बडगाम जिले के चाडूरा में बृहस्पतिवार शाम को आतंकियों ने तहसील कार्यालय में घुसकर जिस कश्मीरी पंडित कर्मचारी राहुल भट्ट की हत्या कर दी थी, शुक्रवार सुबह बनतालाब में उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर जम्मू के एडीजीपी मुकेश सिंह, डिविजनल कमिश्नर रमेश कुमार और डिप्टी कमिश्नर अवनी लवासा भी मौजूद रहीं। मौके पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना को विरोध का सामना करना पड़ा। राहुल पर होने वाले हमले में शामिल दोनों आतंकी पिस्तौल से गोलियां बरसाकर फरार हो गए।

दरअसल राहुल भट्ट अपना तबादला कराना चाहते थे। उनकी अर्जी मंजूर नहीं हुई थी। उनके पिता बिट्टा जी भट्ट का कहना है कि उनका बेटा कश्मीर में काफी वर्षों से तैनात था। उसके तबादले के लिए मैंने बडगाम के जिला आयुक्त को पत्र लिखकर अपील की थी। इसके बावजूद तबादला नहीं हुआ और अब आतंकियों उसकी हत्या कर दी। उन्होंने आरोप लगाया कि राहुल की हत्या के लिए सरकार जिम्मेदार है। राहुल भट्ट को 2010 में प्रधानमंत्री पैकेज के तहत कश्मीर में नौकरी मिली थी। वह अपनी पत्नी व छह वर्षीय बेटी उसके साथ कश्मीर में ही रहे थे।

घटना के बाद सभी विस्थापितों की कालोनी में सुरक्षा कड़ी कर दी गई। बडगाम के शेखपोरा के साथ ही अनंतनाग के वेसू तथा उत्तरी कश्मीर में रह रहे कर्मचारियों की कालोनी के बाहर सुरक्षा घेरा मजबूत करने के साथ ही गश्त भी बढ़ा दी गई है। संबंधित प्रशासन का कहना है कि विस्थापितों से मिलकर उन्हें आश्वस्त किया गया है कि उनकी सुरक्षा के मुकम्मल प्रबंध किए गए हैं। इस सबके बावजूद इस हत्याकांड के विरोध में पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।


Find Us on Facebook

Trending News