स्थानीय अपराधियों के सहारे आतंकियों के घुसपैठ कराने की जुगत में है पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी...

स्थानीय अपराधियों के सहारे आतंकियों के घुसपैठ कराने की जुगत में है पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी...

Desk:कश्मीर से धारा 370 और 35 से हटने के बाद से ही पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी हर कीमत पर भारत में आतंकियों का घुसपैठ करा कर आतंक मचाना चाहता है। चाहे वह पाकिस्तान से सटे बॉर्डर का इलाका हो या फिर नेपाल से सटे बिहार और उत्तर प्रदेश का इलाका ।गौरतलब है कि 1 दिन पहले ही गया से एक आतंकी को गिरफ्तार किया गया है ।

लेकिन फिलहाल पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की जो छटपटाहट है वह यह कि भारत के किसी भी कोने में आतंकी गतिविधि को बहुत ही जल्द अंजाम दिया जाय।

सूत्रों की माने तो भारत की खुफिया एजेंसी ने बिहार पुलिस, एटीएस ,सहित दूसरी एजेंसियों को सतर्क किया है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी नेपाल से सटे बॉर्डर के स्थानीय बदमाशों के सहारे भारत में आतंकियों की घुसपैठ करा सकता है।


इसी के तहत सीमावर्ती इलाकों में  सक्रिय अंतरराष्ट्रीय तस्कर गिरोहों, नक्सलियों और शातिर अपराधियों पर गहरी नजर रखने को कहा गया है।


क्योंकि ऐसी आशंका है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई इन लोगों की मदद से आतंकियों को भारत की सीमा में प्रवेश करा सकता है। बता दें कि भारत का मोस्ट वांटेड आतंकी यासीन भटकल को भी नेपाल से पकड़ा गया था जो बहुत बड़े वारदात को अंजाम देने के फिराक में था


गौरतलब है कि बिहार के सबसे बड़े पर्यटन स्थल बोधगया में आतंकी बम ब्लास्ट करने में सफल रहे हैं ।इसलिए नेपाल बॉर्डर को आतंकी सॉफ्ट टारगेट के तहत इस्तेमाल कर सकते हैं ।सबको पता है कि बिहार से सटे नेपाल में वर्षों से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई सक्रिय है।

 वह कई दफ़ा प्रमाणित भी हो चुका है...

इतना ही नहीं आई एस आई बिहार से सटे बॉर्डर का इस्तेमाल कर आतंकी बिहार भेजने में कामयाबी हासिल कर चुका है और वही बिहार के रास्ते आतंकियों को नेपाल तक पहुंचाने में भी कामयाबी हासिल कर चुका है।

Find Us on Facebook

Trending News