लॉकडाउन के विरोध में उतरे पप्पू यादव, कहा- न्यायपालिका, विधायिका, कार्यपालिका मिलकर कर रहे भयभीत

लॉकडाउन के विरोध में उतरे पप्पू यादव, कहा- न्यायपालिका, विधायिका, कार्यपालिका मिलकर कर रहे भयभीत

पटना. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच एक ओर जहाँ केंद्र सरकार सहित कई राज्यों की सरकारों ने विशेष गाइडलाइन जारी करना शुरू कर दिया है तो दूसरी ओर बिहार सरकार भी इस अहम विषय मंगलवार शाम बैठक करने वाली है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि बैठक के बाद वे बुधवार को राज्य में कोविड के नए गाइडलाइन की घोषणा करेंगे. माना जा रहा है कि कुछ प्रतिबंधों के साथ नया गाइडलाइन जारी हो सकता है. हालाँकि ऐसी भी खरें हैं कि राज्य में लॉकडाउन पर भी निर्णय लिया जा सकता है. 

इस बीच, राज्य में लॉकडाउन लागू करने की आशंकाओं के बीच जाप प्रमुख पप्पू यादव ने कहा है कि कोरोना का हल लॉकडाउन नहीं है. उन्होंने मंगलवार को कहा कि लॉकडाउन ने आम आदमी के जीवन को तहस-नहस कर दिया है. जितने लोग कोरोना से नहीं मरे हैं उससे कहीं ज्यादा लोग भूख और गरीबी से मर रहे हैं. ऐसे में लॉकडाउन कोरोना का हल नहीं है बल्कि कोरोना से निपटने के लिए किसी अन्य रणनीति पर काम करने की जरुरत है.

उन्होंने व्यंग्य करते हुए कहा, यह क्या है कि दिन में रैली और रात में लॉकडाउन, ये सब नहीं चलेगा. कोरोना के नाम पर देश में छुट्टी और लूट मची हुई हुई है. कोरोना हमेशा बजट के पहले आता है, मार्च लूट के बाद खत्‍म हो जाता है. पप्पू यादव ने कुछ सर्वे के आधार पर कहा कि कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रोन की मारक क्षमता बहुत कम है. इस कारण हमें हायतौबा मचाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने यहाँ तक कहा कि कोरोना के नाम पर न्यायपालिका, विधायिका, कार्यपालिका सब मिलकर भय का वातावरण तैयार कर रही हैं जो सही नहीं हैं. यह राजनीतिक पार्टियों का एक सुनियोजित प्लान है। 

उन्होंने कहा कि केंद्र से पैसे के आवंटन का समय आ गया है ऐसे में कोरोना का भय फैला कर पैसे की लूट शुरू होने वाली है. मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे, ट्रेन की भीड़, वर्तमान समय में राजनीतिक पार्टी की रैलियों में कोरोना आखिर क्यों नहीं होता है? यह सब पैसे की लूट मेडिकल माफियाओं का फैला हुआ जाल है.

इसके पूर्व बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने भी कोरोना के कारण राज्य में लॉकडाउन लगाने की मांग पर आपत्ति जताई थी. वहीं मंगलवार को ही नीतीश सरकार के मंत्री जीवेश मिश्र ने कहा कि हमें कोरोना के साथ जीना होगा. बार बार लॉकडाउन लगाना विकल्प नहीं हो सकता है. 


Find Us on Facebook

Trending News