सिटी सर्विस की बसों में शुरु हुआ पास सिस्टम, अब मोबाइल पास और प्रीपेड ट्रेवल कार्ड से करें पटना में कैशलेश यात्रा

सिटी सर्विस की बसों में शुरु हुआ पास सिस्टम, अब मोबाइल पास और प्रीपेड ट्रेवल कार्ड से करें पटना में कैशलेश यात्रा

PATNA:  राजधानीवासियों के लिए खुशखबरी है। भोपाल, जयपुर, कोलकाता और बेंगलुरु आदि शहरों की तरह अब पटना में भी सिटी बसों से सफर करने वाले यात्री कैशलेश यात्रा कर सकते हैं। यात्रियों की सुविधाओं का ख्याल रखते हुए बिहार राज्य पथ परिवहन निगम मोबाइल पास और प्रीपेड ट्रेवल कार्ड के साथ ही चलो मोबाइल एप तैयार किया है। इसकी लांचिंग मंगलवार को परिवहन विभाग मंत्री संतोष कुमार निराला और परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने किया।

परिवहन विभाग मंत्री संतोष कुमार निराला ने कहा कि परिवहन विभाग लगातार आगे बढ़ रहा है। हर  वर्ग के लोगों के लिए बेहतर सुविधा मुहैया करा कर लोगों का विश्वासपात्र बना है, जिसकी प्रशंसा हर जगह हो रही है। परिवहन के क्षेत्र में पटना काफी आगे बढ़ चुका है। चलो एप के माध्यम से यात्रियों का सफर और आसान हो जाएगा। 

परिवहन विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कहा कि चलो एप परिवहन के क्षेत्र में एक नई पहल है। सिटी सर्विस की बसों की लाइव लोकेशन ट्रैक करने के लिए चलो मोबाइल एप लांच किया गया है। इस मोबाइल एप में यात्रियों को सिटी सर्विस की बसों का रियल टाइम लोकेशन तो मिलेगा ही। साथ ही एप के जरिए बसों मे यात्रा करने के लिए मोबाइल पास की भी सुविधा उपलब्ध की गई है। बस में यात्रा करने के लिए अब मोबाइल ही पास का काम करेगा। वहीं एक बार प्रीपेड ट्रेवल कार्ड बनवा कर जरुरत के अनुसार रिचार्ज कराते हुए बस में कहीं भी सफर कर सकते हैं।

परिवहन सचिव ने कहा कि कालेज आने-जाने में छात्राओं को महीने में लगभग 3000-4000 रुपया खर्च होता था। छात्र छात्राओं को रियायत दर पर पास उपलब्ध कराया गया है। सभी वर्ग के लोगों के लिए पास उपलब्ध है।

मासिक पास सिस्टम में सामान्य, महिला और छात्र-छात्राओं के लिए अलग-अलग दर निर्धारित की गई है। मोबाइल पास में जेनरल का 600 रुपया, महिला के लिए 550, छात्र के लिए 500 और छात्रा के लिए 450 रुपया में मोबाइल पास उपलब्ध होगा। यह मंथली पास होगा। एक बार पास बनाने के बाद एक महीने तक किसी भी रुट की सिटी सर्विस की बसों में यात्रा कर सकेंगे। यात्रा के दौरान यात्रियों को मोबाइल पास में क्यूआर कोड को कंडक्टर से स्कैन कराना होगा।

प्रीपेड ट्रेवल कार्ड (चलो कार्ड) में जरुरत के अनुसार रिचार्ज करा कर सिटी सर्विस की बसों में यात्रा कर सकते हैं। इसमें एक टैप से एक सेकंड में पेमेंट कर सकते है। यह कार्ड वॉलेट की तरह काम करेगा। जिस रुट में भी यात्रा कर रहे हों कार्ड दिखा कर यात्रा कर सकेंगे। इसमें कंडक्टर इलेक्टानिक टिकटिंग मशीन के द्वारा कार्ड से पेमेंट लेगा। यह 10 रुपया से 3000 के बीच जरुरत के अनुसार रिचार्ज हो सकता है।कंडक्टर से किसी भी बस में कभी खरीदा और रिचार्ज किया जा सकता है। इसका बैलेंस कभी अमान्य नहीं होता।

अगर आपके पास मोबाइल में इटरनेट की सुविधा नहीं और और सफर के दौरान पता करना चाहते हैं कि आपकी बस कहां है और कितनी देर में स्टाॅप पर पहुंचेगी तो इसके बारे में किसी से पूछने की जरुरत नहीं होगी। यात्रियों की सुविधा के लिए कुछ महत्वपूर्ण स्टापेज पांच जगहों पर पब्लिक इंफारर्मेशन सिस्टम लगाया गया है। इस सिस्टम के जरिए एलईडी स्क्रीन पर बसों का स्टेटस दिखाया जायेगा।

इस मौके पर महिला यात्री पास, स्टूडेंट्स पास, ट्रांसजेंडर पास, पब्लिक इंफार्मेशन सिस्टम और इलेक्ट्रानिक टिकटिंग मशीन का शुभारंभ किया गया। इस मौके पर राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी, संयुक्त सचिव पंकज कुमार, बी.एस.आर.टी.सी. के प्रशासन मुख्य चौधरी अनंत नारायण, उपसचिव शैलेंद्रनाथ और चलो के सी.ओ.ओ. निखिल अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

Find Us on Facebook

Trending News