शुरू हुआ पासिंग आउट परेड समारोह: गया ओटीए से मिलेंगे 69 नए सैन्य ऑफिसर, इसमें 8 मित्र देशों के

शुरू हुआ पासिंग आउट परेड समारोह: गया ओटीए से मिलेंगे 69 नए सैन्य ऑफिसर, इसमें 8 मित्र देशों के

GAYA : बिहार के गया में स्थित देश के तीसरे अफसर प्रशिक्षण अकादमी में 22 वां पासिंग आउट परेड शनिवार को शुरू हो गया है. देश के तीसरे ऑफिसर्स ट्रेंनिंग अकेडमी गया ओटीए से 69 जैंटलमैन कैडेट पासिंग आउट परेड के बाद सैन्य अफसर बनेगें. इसमें पड़ोसी मित्र देश भूटान, वियतनाम और श्रीलंका के 8 जेंटलमैन कैडेट्स भी शामिल हैॅ.

गया ओटीए में शुरू हुआ पीओपी 

अफसर प्रशिक्षण अकादमी गया में 22 वीं पासिंग आउट परेड शनिवार की सुबह को शुरू हुआ. पीओपी समारोह अपराहन तक चलेगा. इसमें 40 वीं टेक्निकल एंट्री स्कीम कोर्स के 61 जैंटलमैन कैडेट और 49 वें स्पेशल कमीशन ऑफिसर एससीओ कोर्स के 8 जैंटलमैन कैडेट कमीशन प्राप्त कर अधिकारी बनेंगे. इसमें पड़ोसी मित्र देशों के 8 जेंटलमैन के डेट में शामिल हैं जिसमें पांच भूटान के, दो श्रीलंका और एक वियतनाम के हैं.

सेना प्रशिक्षण कमान के कमांडिंग इन चीफ सुरिंद्र सिंह महल हैं समीक्षा अधिकारी 

पासिंग आउट परेड के मौके पर समीक्षा अधिकारी के रूप में लेफ्टिनेंट जनरल सुरिंद्र सिंह महल अति विशिष्ट सेवा मेडल विशिष्ट सेवा मेडल, सेना प्रशिक्षण कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ उपस्थित रहेंगे. वहीं, लेफ्टिनेंट जनरल गया उठिए कमांडेंट पीएस मन्हास के अलावे सेना के अन्य पदाधिकारी की मौजूदगी है.

विश्व स्तरीय सैनिक प्रशिक्षण संस्थान के अनुरूप विकसित हुआ है गया ओटीए

गया ओटीए विश्वस्तरीय सैन्य प्रशिक्षण संस्थान के अनुरूप विकसित हुआ है. इसके लिए विभिन्न गतिविधियों की योजना बनाकर क्रियान्वित किया गया. शनिवार को 69 जैंटलमैन कैडेटों का पासिंग आउट परेड और पीपिंग समारोह आयोजित है. इस अवसर पर जेंटलमैन केडेटों के माता-पिता और गणमान्य व्यक्ति समारोह के गवाह बनेंगे. 

वर्ष 2011 में सेना द्वारा देश के तीसरे प्री कमिश्निंग प्रशिक्षण अकादमी के रूप में गया अफसर प्रशिक्षण अकादमी की स्थापना की गई. अफसर प्रशिक्षण अकादमी गया के प्रतीक चिन्ह में दो रंगों की पृष्ठभूमि है. ऊपरी आधा फ्रेंच ग्रे संकेतिक शक्ति और लचीलापन है और निचला आधा क्रिसमस लाल है, जो परम बलिदान को दर्शाता है. इस प्रीमीयर अकादमी की दो प्रशिक्षण बटालियन का नाम सेकंड लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल और कैप्टन विक्रम बत्रा के नाम पर रखा गया है. दो वीर अधिकारियों ने राष्ट्र के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया और उन्हें मरणोपरांत परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया. धर्म चक्र के साथ दो क्रॉस तलवारें अकादमी का प्रतीक चिन्ह है. नीचे दिए गए स्क्रोल में देवनागरी में शौर्य- ज्ञान -संकल्प अकादमी का आदर्श वाक्य है.

Find Us on Facebook

Trending News