स्थापना दिवस पर पुलिस छावनी में तब्दील हुआ पटना कॉलेज, छात्रों के दो गुट आपस में भिड़े, जमकर हुई पत्थरबाजी

स्थापना दिवस पर पुलिस छावनी में तब्दील हुआ पटना कॉलेज, छात्रों के दो गुट आपस में भिड़े, जमकर हुई पत्थरबाजी

PATNA : पटना विश्वविद्यालय अंतर्गत पटना कॉलेज का आज स्थापना दिवस मनाया जा रहा है। इसके मद्देनजर कॉलेज में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। लेकिन कार्यक्रम के दौरान कॉलेज परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है। 


दरअसल कार्यक्रम के दौरान ही छात्रों के दो गुट आपस में भिड़ गए। जिससे अफरा तफरी का माहौल हो गया। बताया जा रहा है की छात्रों ने कैम्पस में जमकर पत्थरबाजी की है। वहीँ सुतली बम चलाये जाने की सूचना भी मिल रही है। बताया जा रहा है की मिंटो और जैक्सन छात्रावास के छात्रों के बीच विवाद हो गया। जिसके बाद स्थिति तनावपूर्ण हो गयी है। हालाँकि घटना की सूचना पाकर पीरबहोर थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गयी है। पीरबहोर थाना अध्यक्ष सबिह उल हक ने बताया कि सूचना मिली थी। जिसके बाद स्थिति को नियंत्रण में कर लिया गया है। हल्की नोकझोंक आए दिन पटना विश्वविद्यालय के इस कैंपस में होती रहती है। हालांकि इस बाबत उन्होंने बताया है कि यह कोई बड़ी घटना नहीं है। स्थापना दिवस का कार्यक्रम जारी है। 

बताते चलें की कई पड़ावों को पार करता हुआ पटना कॉलेज आज 160 वर्ष का हो गया है। बिहार, झारखंड, ओड़िशा और नेपाल का एकमात्र सबसे पुराना माना जानेवाला पटना कॉलेज के कीर्तिमानों का एक लंबा इतिहास रहा है। भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद, सच्चिदानंद सिन्हा, जयप्रकाश नारायण समेत कई महापुरुषों के व्यक्तित्व निर्माण में पटना कॉलेज की प्रमुख भूमिका रही है। 

बिहार के शैक्षिक, सामाजिक, सांस्कृतिक व राजनीतिक गतिविधियों का यह कॉलेज न सिर्फ केंद्र रहा है, बल्कि उत्प्रेरक भी रहा है। बतातें चलें कि नौ जनवरी 1863 को कॉलेज की स्थापना की गई थी। 1863 से लेकर 1917 तक यह कलकत्ता यूनिवर्सिटी से संबद्ध रहा था। आज कॉलेज का 161 वां स्थापना दिवस मनाया जा रहा है। 

पटना से अनिल की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News