जेपी गंगा पथ पर यातायात नियंत्रण एवं विधि-व्यवस्था को लेकर पटना कमिश्नर ने की बैठक, अधिकारियों को दिया आवश्यक निर्देश

जेपी गंगा पथ पर यातायात नियंत्रण एवं विधि-व्यवस्था को लेकर पटना कमिश्नर ने की बैठक, अधिकारियों को दिया आवश्यक निर्देश

पटना. पटना कमिश्नर कुमार रवि ने जेपी गंगा पथ पर यातायात नियंत्रण एवं विधि-व्यवस्था संधारण सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को इसको लेकर आवश्यक निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि नव-उद्घाटित जेपी गंगा पथ लोक आकर्षण का एक महत्वपूर्ण केन्द्र है। पर्यटन के दृष्टिकोण से भी यह काफी महत्वपूर्ण है। इस पर सुचारू एवं सुगम यातायात प्रबंधन तथा विधि-व्यवस्था संधारण सुनिश्चित करना आवश्यक है।

पटना डीएम डॉ. चन्द्रशेखर सिंह ने जेपी गंगा पथ पर यातायात नियंत्रण एवं विधि-व्यवस्था संधारण हेतु कार्य योजना प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि इस पथ पर भीड़ का एक प्रमुख कारण पार्किंग की व्यवस्था नहीं होना है। प्रशासन द्वारा 4 जगहों को पार्किंग स्थल के रूप में चिन्हित करने का निर्णय लिया गया है- जनार्दन घाट के पास, बिंद टोली के पास, जेपी सेतु के पूरब-दक्षिण कोने पर एवं ए एन सिन्हा संस्थान के पास पार्किंग स्थल बनाये जाने की जरूरत है। विधि व्यवस्था संधारण हेतु संपूर्ण जेपी गंगा पथ के लिए एक पुलिस ओपी बनाने का निर्णय लिया गया है। यह ओपी गंगा पथ और अटल पथ के मिलान बिंदु पर रोटरी के पास दक्षिण तरफ बनाया जाएगा। साथ ही 2 गाड़ियों को हाईवे पेट्रोलिंग के लिए तैनात करने का निर्णय लिया गया है। ये गाड़ियां सघन गश्ती करेंगी एवं यातायात प्रबंधन सुनिश्चित करेंगी। पीएमसीएच की व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए गंगा पथ से पीएमसीएच के लिए डेडीकेटेड सड़क से आम लोगों के आवागमन पर प्रतिबंध लगाया गया है। इस डेडीकेटेड लेन से केवल पीएमसीएच के डॉक्टर्स, स्टाफ एवं एंबुलेंस आ जा सकते हैं। जेपी गंगा पथ पर पीएमसीएच के पास ड्रॉप गेट बनाया जा रहा है तथा यहां चेक पोस्ट का भी निर्माण किया जाएगा। 


आयुक्त  रवि ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि विधि-व्यवस्था संधारण हेतु दण्डाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की जाए। उन्होंने नो पार्किंग जोन, नो स्टॉपेज, नो वेंडिंग जोन सहित अन्य सभी मानकों पर अधिक-से-अधिक संख्या में संकेतक (साईनेज) लगाने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने नजदीकी हेल्थ फैसिलिटी को विकसित करने का भी निर्देश दिया। आयुक्त रवि ने कार्यपालक पदाधिकारी, पाटलिपुत्र अंचल, पटना नगर निगम को जेपी गंगा पथ पर समुचित साफ-सफाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि टीम बनाकर इसके लिए कार्रवाई करें।

आयुक्त रवि ने जेपी गंगा पथ पर इन्ट्री एवं एक्जिट प्वाइंट सहित अन्य सभी महत्वपूर्ण स्थानों पर सीसीटीवी/कैमरा लगाने का निर्देश दिया। उन्होंने नगर आयुक्त-सह-प्रबंध निदेशक, पटना स्मार्ट सिटी लि. को स्पीड व्यालेशन डिटेक्शन, एडेप्टिव ट्रैफिक कन्ट्रॉल सिस्टम एवं सिटी सर्विलेंस प्रणाली अधिष्ठापित करने के लिए कार्य योजना बनाने को कहा। उन्होंने कहा कि उत्तम तकनीकों के इस्तेमाल से यातायात प्रबंधन सुनिश्चित किया जा सकता है। साथ ही इससे मानव व्यवहार, समूह व्यवहार, महिला सुरक्षा सहित विधि-व्यवस्था संधारण में भी सहायता मिल सकती है।

बैठक से पहले आयुक्त रवि ने जेपी गंगा पथ का निरीक्षण किया। उन्होंने उप महाप्रबंधक, बिहार स्टेट रोड डेवलपमेन्ट कॉपोरेशन लिमिटेड अरूण कुमार को जेपी गंगा पथ के सौन्दर्यीकरण पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। उन्होंने जेपी गंगा पथ पर आने वाले व्यक्तियों खासकर युवाओं से आह्वान किया कि वाहन का परिचालन नियंत्रित गति से करें। तेज गति से वाहन न चलाएं। यह जानलेवा साबित हो सकती है।

इस बैठक में आयुक्त के साथ पुलिस महानिरीक्षक केन्द्रीय प्रक्षेत्र राकेश राठी, पटना डीएम डॉ. चन्द्रशेखर सिंह, पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लो, नगर आयुक्त अनिमेष कुमार पराशर, सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी, नगर पुलिस अधीक्षक अम्बरीष राहुल, आयुक्त के सचिव एसएम कैसर सुल्तान, क्षेत्रीय विकास पदाधिकारी सर्व नारायण यादव, उप निदेशक आईपीआरडी लोकेश कुमार झा, बिहार स्टेट रोड डेवलपमेन्ट कॉपोरेशन लिमिटेड के उप महाप्रबंधक अरूण कुमार, पथ निर्माण विभाग के अभियंता एवं अन्य भी उपस्थित थे।


Find Us on Facebook

Trending News