कोरोना काल में भी माल वसूली में लगा है पटना का जेडीएम हॉस्पिटल , कोरोना मरीज को थमा दिया 6.34 लाख का बिल, FIR दर्ज

कोरोना काल में भी माल वसूली में लगा है पटना का जेडीएम हॉस्पिटल , कोरोना मरीज को थमा दिया 6.34 लाख का बिल, FIR दर्ज

पटना : राजधानी पटना के कंकड़बाग का जेडीएम हॉस्पिटल कोरोना काल में भी लूटने में लगा है. कोरोना इलाज को लेकर निजी अस्पताल की मनमानी कम नहीं हो रहा है. जेडीएम हॉस्पिटल की करतूत सुनकर आप दंग रह जाएंगे.

कोरोना मरीज के इलाज के नाम पर इस अस्पताल ने 6.34 लाख का कच्चा बिल परिजनों को थमा दिया है. परिजनों के मुताबिक कंकड़बाग के पूर्वी इंद्रानगर के जेडीएम हॉस्पिटल में कुछ दिनों पहले कोरोना का मरीज भर्ती हुआ था उसे और भी कुछ बीमारियां थी. इसके बाद हॉस्पिटल ने इलाज का बिल 6.34 का परिजनों को थमा दिया. परिजनों ने काफी गुजारिश की लेकिन हॉस्पिटल बिल लेने पर अड़ा रहा. यही नहीं अस्पताल प्रशासन ने मरीज को रुम तक में बंद कर दिया.

जैसे ही यह मामला डीएम के संज्ञान में पहुंचा .टीम ने जांच टीम बनाकर एक्शन लेने को कहा. जांच में परिजनों के आरोप सही पाए गए हैं. जिसके बाद पटना पुलिस ने हॉस्पिटल के एमडी, डॉक्टर, लैब टेक्नीशियन साथ पांच आरोपी के खिलाफ  FIR दर्ज कर लिया है.

इसके बाद डीएम ने सभी अस्पतालों को उचित फीस रखने, पक्का बिल और अस्पताल में आइटमवार फीस की सूची जारी करने को कहा है. लेकिन इन सब के बीच सवाल यह है कि कोरोना के इलाज को लेकर स्वास्थ्य विभाग फीस की दर क्यों नही तय कर पा रहा है.

Find Us on Facebook

Trending News