पटना में कोरोना बढ़ चला सामुदायिक संक्रमण की ओर, अब लोकल लोगों को सीधे कर रहा है हिट

पटना :  बिहार में कोरोना अब खतरनाम रुप लेता जा रहा है. सूबे में कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में तेजी उछाल आ रहा है.बिहार में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 9988 हो गई है. लेकिन इस बीच पटना के लिए बुरी खबर है. पटना में कोरोना का जो नेचर बदल रहा है वो पटना के लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

पटना जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. जिले के पुनपुन व घोसवरी प्रखंड को छोड़ कर ऐसा कोई भी प्रखंड नहीं बचा है, जहां कोरोना संक्रमित नहीं मिले हैं. यह दोनों प्रखंड फिलहाल पटना जिले के ग्रीन जोन में हैं. खास बात यह है कि कोरोना संक्रमित हर इलाके में मिल रहे हैं.

सामुदायिक संक्रमण की ओर पटना
पटना में कोरोना के संक्रमण को लेकर एक्सपर्ट का दावा है कि ये अब सामुदायिक संक्रमण की ओर बढ़ रहा है. पहले कोरोना प्रवासियों तक ही सीमित था लेकिन पटना में अब स्थानीय लोग भी कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं. अब स्थानीय लोग भी कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं. 

डॉक्टर, नर्स, व्यवसायी, पुलिस अधिकारी, सफाई कर्मी, एयरपोर्ट कर्मी, दुकानदार कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. पटना में ऐसे कई कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं जिनका कोई ट्रेवल हिस्ट्री भी नहीं हैं. पीएमसीएच में कोरोना के संक्रमण के चेन को लेकर स्वास्थ्य विभाग ठीक से पता तक नहीं लगा पाया है.जिले में 16 जून को कोरोना संक्रमितों की संख्या 318 थी. लेकिन, मंगलवार यानी 30 जून तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 733 हो गयी. हालांकि इनमें से 454 अस्पताल से डिस्चार्ज किये जा चुके हैं. जबकि, अस्पताल में इलाजरत संक्रमितों की संख्या फिलहाल 273 है.

Find Us on Facebook

Trending News