PATNA से भी जुड़ गया मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक रखने का मामला जानिए कैसे

PATNA से भी जुड़ गया मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक रखने का मामला जानिए कैसे

नई दिल्ली।  देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास एंटीलिया के बाहर कार से विस्फोटक जिलेटिन की छड़े मिलने की घटना के तिहाड़ जेल के निर्देश दिए जा रहे थे। इस बात का खुलासा होने के बाद अब एक नई बात सामने आई है, जिसका संबंध पटना से जुड़ा है।

मामले में गुरुवार रात तिहाड़ में छापेमारी के दौरान सुरक्षा एजेंसियों ने इंडियन मुजाहिदीन के खूंखार आतंकी के बैरक से मोबाइल फोन सीज किया। यह छापेमारी तिहाड़ में गुरुवार रात करीब तीन घंटे तक चली। बताया जा रहा है कि जिस आतंकी के पास से मोबाइल सीज किए गए हैं, वह पटना में मोदी की रैली के दौरान ब्लास्ट में शामिल था। 

 सुरक्षा एजेंसियों ने जेल नंबर-8 में छपेमारी कर इंडियन मुजाहिदीन के कुख्यात आतंकी तहसीन अख्तर के बैरक से मोबाइल सीज किया। इस मोबाइल से टेलीग्राम चैनल एक्टिवेट किया गया था। बरामद मोबाइल से टोर ब्राउज़र के जरिए वर्चुअल नम्बर क्रिएट किया गया और फिर टेलीग्राम अकाउंट बनाया गया था। इसके बाद धमकी भरा पोस्ट तैयार कर उसे टेलीग्राम के जरिये भी भेजा गया था।  मामले की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल अब तहसीन अख़्तर को जेल से रिमांड पर लेकर इस मामले में सघन पूछताछ करेगी।  


2014 में हुई थी गिरफ्तारी

 इंडियन मुजाहिदीन का आतंकी तहसीन अख्तर उर्फ मोनू को पश्चिम बंगाल और नेपाल की सीमा पर स्थित काकरविट्टा में वर्ष- 2014 में गिरफ्तार किया था। अख्तर को पटना ब्लास्ट का मास्टरमाइंड कहा जाता है। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक उसी के इशारे पर नरेंद्र मोदी की हुंकार रैली के दौरान धमाके किए गए थे।

वह बिहार के समस्तीपुर का रहने वाला है मोनू आईएम चीफ यासीन भटकल के बाद संगठन की कमान संभाल रहा था। तहसीन दिल्ली में भटकल की मदद से हथियारों की फैक्ट्री लगाने वाला था। तहसीन अख्तर, पटना के गांधी मैदान में पीएम नरेंद्र मोदी की रैली में बम धमाके, हैदराबाद में  ब्लास्ट, बोधगया बम धमाकों में शामिल रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News