जमुई में बोले पीएम मोदी- पाकिस्तान के पक्षकारों को चुनाव में जनता देगी सजा

जमुई में बोले पीएम मोदी- पाकिस्तान के पक्षकारों को चुनाव में जनता देगी सजा

PATNA/JAMUI : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमुई में बिहार की अपनी पहली चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों पर जोरदार हमला बोला। पीएम मोदी ने विपक्षी दलों के नेताओं से सवाल करते हुए कहा कि उन्हें भारत के सपूतों पर भरोसा है या पाकिस्तान के कपूतों पर भरोसा है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया आज भारत के पक्ष में खड़ी है लेकिन महामिलावटी बिल्कुल वैसी बातें करते हैं जैसी पाकिस्तान करता है। यह लोग पाकिस्तान के प्रवक्ता ज्यादा लगते हैं। पीएम मोदी ने पूछा कि जमुई और नवादा को हिन्दुस्तान के हीरो चाहिए या फिर पाकिस्तान के पक्षकार चाहिए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के पक्षकारों को यहां की जनता सजा देगी। बता दें कि जमुई सीट से एलजेपी नेता चिराग पासवान एनडीए उम्मीदवार हैं।

 पीएम मोदी ने कहा कि एनडीए की सरकार की सरकार की नीति साफ है। आतंकवाद हो या फिर नक्सलवाद, भारत को आंख दिखाने का काम जो कोई करेगा, उससे सख्ती से निपटा जाएगा। उन्होंने कहा कि वो चाहे नक्सलियों को वैचारिक चारा देने वाले लोग ही क्यों न हो। पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार में पहले की तुलना में क्या ज्यादा तादादा में नक्सली विचारधारा अपना चुके युवाओं ने मुख्यधारा में आने के लिए समर्पण किया है। पीएम ने कहा कि कांग्रेस के लोग जब भी सत्ता में आते है सीधी चल रही गाड़ी को पीछे की ओर ले जाते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत के इतिहास में पहली बार आतंकियों के घऱ में घुसकर उनको सबक सिखाने का काम हमारे जवानों ने किया है। उन्होंने कहा कि आज पूरी दुनिया आतंक पर हमारे प्रहार की चर्चा कर रही है लेकिन महामिलावटी के कहते हैं कि मोदी सबूत दो। पीएम मोदी ने कहा कि क्या विरोधियों की इस भाषा से आप सहमत हैं, क्या देश की सेना पर आपको भरोसा है। मोदी ने कहा कि सेना पर आपका भरोसा है लेकिन कुछ लोगों ने तो सेना को ही अपना दुश्मन बना लिया है। सेना पराक्रम करती है और फायदा मोदी को मिल रहा है, इसलिए कुछ लोग सेना को ही परेशान करने पर तुले हैं।

 पीएम मोदी ने कहा कि जब-जब देश में कांग्रेस की सरकार आती है मंहगाई बढ़ जाती है। आतंकवाद पर कार्रवाई करने से कांग्रेस सरकार हमेशा डरती रही है। पीएम मोदी ने महागठबंधन को महामिलावट कहते हुए कहा कि ये लोग आतंकवादियों की भी मजहब देखते हैं। उन्हें अपना वोट बैंक खिसकने का खतरा होता है इसलिए ये लोग आतंकवादियों पर भी कोई कार्रवाई नहीं करते।

Find Us on Facebook

Trending News