छठ महापर्व पर बिहार के लोगों को बड़ा तोहफा देने की तैयारी में पीएम मोदी, करोड़ों लोगों की दूर होगी भूख की समस्या

छठ महापर्व पर बिहार के लोगों को बड़ा तोहफा देने की तैयारी में पीएम मोदी, करोड़ों लोगों की दूर होगी भूख की समस्या

DESK. छठ महापर्व पर बिहार के करोड़ों लोगों को केंद्र सरकार की ओर से बड़ी खुशखबरी मिल सकती है। खासकर महंगाई के मोर्चे पर परेशान आम लोगों को इससे बड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित मुफ्त राशन योजना को आगे बढ़ाने पर जल्द फैसला करेगी। यह जानकारी खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने दी। सूत्रों के अनुसार इसकी घोषणा अगले कुछ दिनों में हो सकती है और खासकर इसे छठ महापर्व के पहले ऐलान किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि सरकार गरीबों को मुफ्त राशन देने की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) को 30 सितंबर से आगे बढ़ाने के बारे में विचार कर रही है। उन्होंने आगे बताया कि सरकार अभी तक यह फैसला नहीं किया है और आगे कितने दिनों में यह फैसला करेगी यह स्पष्ट नहीं है।

दरअसल, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना मार्च, 2020 में शुरू की गई थी। इसके तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) में शामिल लगभग 80 करोड़ लाभार्थियों को प्रति व्यक्ति प्रति माह पांच किलो खाद्यान्न मुफ्त में दिया जा रहा है। इससे गरीब परिवारों को कोविड-19 महामारी की वजह से लागू लॉकडाउन के दौरान काफी मदद मिली थी।

यह एनएफएसए के तहत सामान्य आवंटन से अधिक है। इस योजना को कई बार बढ़ाया जा चुका है और अब यह 30 सितंबर तक वैध है। सचिव ने आगे कहा कि यह सरकारी फैसला हैं। इस पर सरकार फैसला करेगी। वह रोलर फ्लोर मिलर्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की वार्षिक आम बैठक को संबोधित कर रहे थे।

सरकार ने मार्च में पीएमजीकेएवाई योजना को और छह महीने यानी सितंबर, 2022 तक बढ़ा दिया था। सरकार ने इस योजना पर मार्च तक लगभग 2.60 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं और सितंबर, 2022 तक 80 हजार करोड़ रुपये और खर्च किए जाएंगे। इससे पीएमजीकेएवाई के तहत कुल खर्च लगभग 3.40 लाख करोड़ रुपये हो जाएगा। इस मामले में सरकार पूरी वस्तु स्थिति का ध्यान रख रही है।


Find Us on Facebook

Trending News