पीएम मोदी की "स्वदेशी" अपनाने की अपील ने बदली कुम्हारों की जिंदगी, अपने पारंपरिक काम से जुड़ने लगी युवा पीढ़ी

पीएम मोदी की "स्वदेशी" अपनाने की अपील ने बदली कुम्हारों की जिंदगी, अपने पारंपरिक काम से जुड़ने लगी युवा पीढ़ी

KATIHAR : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पिछले बार मन की बात कार्यक्रम में दीपावली के मौके पर स्वदेशी चीजों को प्राथमिकता देने की अपील को लेकर दीया और मिट्टी के बर्तन बनाने वाले कुम्हार समाज के लोग खासा उत्साहित हैं। कटिहार के हरीगंज मोहल्ला स्थित कुम्हार टोली के लोगों के माने तो पहले से मिट्टी के बर्तन दीया और पूरे साल भर खासकर चाय कुल्हड़ की डिमांड इन दिनों पहले से कई गुना अधिक हुआ है। इस बीच सरकार के सहयोग से निःशुल्क बिजली से चलने वाले मिट्टी के बर्तन बनाने वाले चाक मिलने से कुम्हारों को बहुत आसानी हुआ है,बिजली से चलने वाले चाक मिलने से एक बार फिर युवा पीढ़ी के कुम्हार अपने पारंपरिक इस काम से जुड़ने लगे हैं।

दस साल से इस पेशे से जुड़े मंतोष कुमार का कहना है अब स्थिति पहले से बेहतर हुई है। आय भी बढ़ी है। लोगों में प्रधानमंत्री की अपील का असर हुआ है। अब पहले से अधिक लोग खरीदारी के लिए पहुंचते हैं। उनका कहना है कि इलेक्ट्रॉनिक चाक से अब अधिक संख्या में मिट्टी के बर्तन और खिलौने तैयार कर लिया जा रहा है।

सरकार से की यह मांग

हालांकि कुम्हारों के सरकार से मांग है कि बिजली चलने वाले चाक को लेकर महंगे बिजली खपत से मुक्ति दिलाने के लिए भी सरकार कुछ पहल करें, ताकि लागत को कम किया जा सके। 

श्याम की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News