मुंशी अपहरण काण्ड के आरोपियों को पुलिस ने दबोचा, हथियार और गोली बरामद

मुंशी अपहरण काण्ड के आरोपियों को पुलिस ने दबोचा, हथियार और गोली बरामद

GODDA : गोड्डा पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. जहाँ पुलिस ने दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस कप्तान शैलेन्द्र प्रसाद बर्णवाल को गुप्त सूचना मिली की सुन्दरपहाड़ी थानान्तर्गत ग्राम-बोड़वा में कुछ अपराधकर्मियों द्वारा अपराध की योजना बनाया जा रहा है. इस सूचना के आधार पर छापामारी दल का गठन किया गया. इस टीम ने जब छापेमारी की तो पांच अपराधी पुलिस को देख कर भागने लगे. भागने के क्रम में 2 अपराधकर्मियों को पकड़ा गया एवं शेष 3 अपराधकर्मी भागने में सफल रहे. 

पकड़ाये अपराधकर्मियों से पूछताछ करने पर अपना नाम राम पतरस मराण्डी उर्फ राम, गुलाबी हेम्ब्रम, और अरबिन्द साव बताया. अपराधकर्मियों की तलाशी लेने पर उनके पास से 4 देशी कट्टा, 7.65 बोर का 7 कारतूस, .315 बोर का 3 कारतूस, .303 बोर का 3 कारतूस, .303 बोर का 2 खोखा, 1देशी रायफल,1मोटरसाईकिल और 1 मोबाईल बरामद किया गया. 

अपराधी राम पतरस मराण्डी द्वारा अपने स्वीकारोक्ति बयान में बताया गया कि ये सभी मिलकर गोड्डा-पाकुड़ रोड पर रात्रि में गाड़ी की लूटपाट की योजना बना रहे थे. पूर्व की घटना के संबंध में पूछताछ करने पर बताया कि 3 जनवरी को राम पतरस मराण्डी के द्वारा फोन कर सभी अपराधकर्मी को सिंगारसी हटिया में बुलाया गया. उसके बाद राम पतरस मराण्डी, बैजल टुडू, गुलाबी हेम्ब्रम एवं 2 अन्य अपराधकर्मी के साथ मिलकर अपहरण की योजना बनाये. उसके बाद पाकुड़ जिला के अमड़ापाड़ा थानान्तर्गत बास्को नदी पर बन रहे पुल के ठीकेदार के मुंशी को हथियार के बल पर अपहरण किया गया. 

बाद में उसे रामपतरस मराण्डी एवं गुलाबी हेम्ब्रम के द्वारा मोटरसाईकिल पर बैठाकर ग्राम-कमराडोल, थाना-पोड़ैयाहाट लाया गया. मुंशी के परिजनों से 10 लाख रूपया फिरौती की गयी. बाद में 1 लाख में बात तय हुई. पैसे मिलने के बाद मुंशी को छोड़ दिया गया. पुलिस को और कई मामलों में इन अपराधकर्मियों की तलाश थी. 

कुंदन की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News