सीएम नीतीश के महिला जिलाध्यक्ष और जिप प्रत्याशी पर पुलिस ने निकाली पिस्टल, ईवीएम पर स्टीकर लगाने का किया था विरोध

सीएम नीतीश के महिला जिलाध्यक्ष और जिप प्रत्याशी पर पुलिस ने निकाली पिस्टल, ईवीएम पर स्टीकर लगाने का किया था विरोध

MUZAFFARPUR : जिले में आज पंचायत चुनाव के लिए मतदान के दौरान अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जहाँ चुनाव में धांधली की शिकायत करने पर जिला परिषद् प्रत्याशी सीमा जायसवाल के ऊपर पुलिस अधिकारी ने पिस्टल निकाल लिया। वह भी तब जब सीमा जायसवाल जदयू महिला की जिलाध्यक्ष भी हैं। सीमा जायसवाल पारु जिला परिषद् क्षेत्र संख्या 12 प्रत्याशी है।  

बता दें की देवरिया पूर्वी बूथ संख्या 334 पर जिला परिषद् उम्मीदवार सीमा जायसवाल के नाम के सामने स्टीकर लगा दिया गया था। प्रत्याशी का आरोप है की बूथ पर मौजूद प्रेजाइडिंग ऑफिसर उमेश प्रसाद दुसरे प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करा रहे थे। चौदह नम्बर पर उनका चुनाव चिन्ह टेबल छाप था। जिसपर स्टीकर लगा था। इस मामले का विरोध करने पर पुलिस की ओर से सीमा जयसवाल को गोली मारने की धमकी दी गयी। वहीँ मौके पर तैनात पुलिस अधिकारी ने उनके ऊपर पिस्टल निकल लिया। 

NEWS4NATION से बातचीत करते हुए जिला परिषद् प्रत्याशी सीमा जायसवाल ने कहा की जब हमने प्रेजाइडिंग ऑफिसर से स्टीकर स्टे होने की शिकायत की तो उन्होंने इवीएम को खुरचना शुरू कर दिया। जब इस घटना का हम वीडियो बनाने लगे तो मेरा मोबाइल छीन लिया गया। कहा गया की यहाँ फोटो खींचने की मनाही है। जब हमने विरोध करना शुरू किया तो मुझ पर और मेरे बेटे पर पुलिस ने पिस्टल निकाल लिया। उन्होंने कहा की कुछ लोगों ने उनसे शिकायत किया था की इवीएम पर आपका नाम नहीं दिख रहा है, जिसके बाद मैं बूथ पर गयी थी। उन्होंने कहा की मैं जब महिला जदयू का जिलाध्यक्ष हूँ। इसके बाद मेरे साथ ऐसा व्यवहार किया जा रहा है तो दुसरे लोगों का क्या होगा। इस मामले को लेकर उन्होंने इस बूथ को कैंसिल कर फिर से चुनाव कराये जाने की मांग की है। 

मुजफ्फरपुर से अरविन्द अकेला की रिपोर्ट 



Find Us on Facebook

Trending News