सत्तासीन और विपक्ष के राजनेताओं का एक ही मांग, अब अपराधियों का करो एनकाउंटर

सत्तासीन और विपक्ष के राजनेताओं का एक ही मांग, अब अपराधियों का करो एनकाउंटर

डेस्क... बिहार की राजधानी पटना में इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन हेड रूपेश कुमार सिंह की सरेआम नृशंस हत्या के बाद कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। इस हाई प्रोफ़ाइल हत्याकांड के बाद से ही पुलिस महकमे और सरकारी तंत्र में हड़कंप मचा हुआ है। बिहार की सियासत में उबाल आ गया है। हत्याकांड को लेकर सीबीआई जांच की मांग उठने लगी है। सभी नेताओं ने राजधानी के पॉश इलाके में हाई प्रोफाइल हत्याकांड की निंदा की है। वहीं, उन्होंने नीतीश सरकार पर भी हमला बोला। बता दें कि इस हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। पुलिस पटना एयरपोर्ट पहुंची और जानकारी ली वहीं घटनास्थल के आस पास के सीसीटीव फूटेज भी खंगाले जा रहे हैं।  

इधर, इतना बड़े आपराधिक घटनाक्रम के बाद राजनेताओं में भी बढ़ते अपराध को लेकर बौखलाहट है। सत्तासीन राजनेता हों या फिर विपक्ष एकसुर में अपराधियों के एनकाउंटर की मांग कर रहे हैं। 

इन राजनेताओं ने कहा एनकाउंटर करो

जाप प्रमुख पप्पू यादव ने कहा कि रूपेश सिंह की हत्या में राजनीतिक साजिश की संलिप्तता भी हो सकती है।उन्हाेंने कहा कि पटना में एक किलोमीटर के दायरे में पूरा मंत्रालय है, लेकिन बावजूद इसके शहर के पॉश इलाके में दिनदहाड़े हत्या की घटना हो रही है। नीतीश सरकार पुलिस को खुली छूट दे और शूट एंड साइट का ऑर्डर दे तभी क्राइम कंट्रोल होगा। 

छपरा सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने कहा कि बिहार में अपराधियों को सरेआम गोली मारने की जरूरत है। इसके लिए कानून में बदलाव की जरूरत हो तो बदलाव किया जाए। रूपेश हत्याकांड से भावुक सिग्रीवाल ने कहा कि सरकार अपराध नियंत्रण की कोशिश में लगी है।

पटना के बांकीपुर सीट से भाजपा विधायक नितिन नवीन घटना स्थल पर पहुंचे और वह अपराध पर नाराज दिखे। उन्होंने कहा कि अगर अपराधी अपराध करके भाग रहा है तो उसका एनकाउंटर कर देना चाहिए। उन्होने कहा कि यदि अपराधी बेलगाम हो रहे हैं और परिस्थियतियां खराब हो रही है तो उनका एनकाउंटर करने में क्या हर्ज है। 

उठे ये अहम सवाल

रूपेश सिंह हत्याकांड में ऐसे कई पहलू हैं, जो इस हत्याकांड और इसकी जांच को लेकर सवाल उठा रहे हैं। रूपेश सिंह के तमाम बड़े लोगों के साथ संबंध थे, क्या राजनेता और क्या अभिनेता, सभी रूपेश को जानते थे। कई सिलेब्रिटीज से भी उनके अच्छे रिश्ते थे। हालिया विधानसभा चुनाव में भी रूपेश के चुनाव लड़ने की चर्चा थी। इस हत्या को लेकर सबसे बड़ा सवाल ये उठ रहा है कि आखिर रूपेश की हत्या के पीछे कारण क्या है। परिवार और दोस्तों के मुताबिक रूपेश की किसी से दुश्मनी नहीं थी।

हालांकि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि रसूखदार लोगों के साथ रूपेश के सम्बंध और ऊंची पहुंच की वजह से उनके कुछ दुश्मन भी हो सकते हैं, लेकिन अभी तक साफ नहीं है कि किसने और क्यों रूपेश की हत्या की। सवाल ये भी है कि रूपेश के अपार्टमेंट के सीसीटीवी कैमरे क्यों नहीं काम कर रहे थे। जब वारदात को अंजाम दिया गया तो गार्ड कहां था। रूपेश की हत्याकांड के दिन ही गार्ड का न होना एक संयोग भी हो सकता है लेकिन फ़िलहाल ये जांच के घेरे में है।



Find Us on Facebook

Trending News