हिमाचल में खालिस्तानी झंडे पर राजनीति तेज, आप ने मांगा सीएम का इस्तीफा तो कुमार विश्वास ने केजरीवाल को घेरा, कैप्टन अमरिंदर भी कूदे

हिमाचल में खालिस्तानी झंडे पर राजनीति तेज, आप ने मांगा सीएम का इस्तीफा तो कुमार विश्वास ने केजरीवाल को घेरा, कैप्टन अमरिंदर भी कूदे

DESK.धर्मशाला में हिमाचल प्रदेश विधानसभा के गेट पर खालिस्तानी झंडा लगाए जाने के बाद अब राजनीतिक दलों ने एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप तेज कर दिए हैं. आम आदमी पार्टी ने इस घटना को लेकर भाजपा को घेरा है. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि पूरी भाजपा एक गुंडे को बचाने में लगी है और उधर ख़ालिस्तानी झंडे लगाकर चले गए. जो सरकार विधान सभा ना बचा पाए, वो जनता को कैसे बचाएगी. ये हिमाचल की आबरू का मामला है, देश की सुरक्षा का मामला है. 

इस बीच, कवि कुमार विश्वास ने भी इस घटना को लेकर एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि देश मेरी चेतावनी को याद रखे. पंजाब के वक़्त कहा था, उसकी अब इस दूसरे प्रदेश पर नज़र है. मैंने पहले भी चेताया था, फिर कह रहा हूँ.

वहीं, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने घटना की कड़ी निंदा की. उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा के गेट पर खालिस्तान के झंडे लगाने के कृत्य की कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि यह हाशिए पर खड़े उन असामाजिक तत्वों का कृत्य है जो हमारे देश की शांति और भाईचारे को भंग करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि धर्मशाला विधानसभा परिसर के गेट पर रात के अंधेरे में खालिस्तान के झंडे लगाने वाली कायरतापूर्ण घटना की मैं निंदा करता हूं. इस विधानसभा में केवल शीतकालीन सत्र ही होता है इसलिए यहां अधिक सुरक्षा व्यवस्था की आवश्यकता उसी दौरान रहती है. इसी का फायदा उठाकर यह कायरतापूर्ण घटना को अंजाम दिया गया है, लेकिन हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. इस घटना की त्वरित जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. मैं उन लोगों को कहना चाहूंगा कि यदि हिम्मत है तो रात के अंधेरे में नहीं, दिन के उजाले में सामने आएं.

हिमाचल पुलिस की ओर से कहा गया कि देर रात या अल्ल सुबह किसी ने झंडा लगाया है. सीसीटीवी फुटेज और अन्य तरीकों से इस घटना को अंजाम देने वालों को पकड़ने की कार्रवाई की जायगी. 


Find Us on Facebook

Trending News