हिंदी भाषा पर शुरु हुई राजनीति, संजय राउत ने अमित शाह से कर दी बड़ी मांग तो तमिलनाडु में शुरु हुआ तकरार

हिंदी भाषा पर शुरु हुई राजनीति, संजय राउत ने अमित शाह से कर दी बड़ी मांग तो तमिलनाडु में शुरु हुआ तकरार

DESK. देश में एक बार फिर से हिंदी को लेकर नया विवाद देखने को मिल रहा है. तमिलनाडु के एक मंत्री ने हिंदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी की तो अब महाराष्ट्र के शिवसेना नेता संजय राउत ने हिंदी को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बड़ी मांग कर दी है. संजय राउत ने शनिवार को कहा कि हिंदी देश की भाषा है. एक मात्र भाषा जिसको पूरे देश में मान्यता है, जो पूरे देश में बोली जाती है वो हिंदी है. उन्होंने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह को ये चुनौती स्वीकार करनी चाहिए कि सभी राज्यों में एक भाषा- एक देश, एक संविधान, एक विधान, एक निशान और एक भाषा होनी चाहिए.

तमिलनाडु के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. के. पोनमुडी ने हिंदी को लेकर एक विवादित बयान दिया है। पोनमुडी ने कहा कि भाषा के रूप में अंग्रेजी हिंदी से कहीं ज्यादा अहमियत रखती है. यही नहीं, जो लोग हिंदी बोलते हैं, वे छोटे-मोटे काम करते हैं। उन्होंने यहां तक कह दिया कि हिंदी बोलने वाले कोयंबटूर में पानीपुरी बेच रहे हैं. 

इसी को लेकर संजय राउत का बयान आया. उन्होंने कहा कि हिंदी ही देश में एक मात्र ऐसी भाषा है जो पुरे देश में बोली जाती है. उन्होंने कहा, मैं हिंदी भाषा का सम्मान करता हूं और संसद में भी बोलता हूं. पूरा देश इसे समझता है. मैं गृह मंत्री अमित शाह से 'एक देश, एक विधान, एक भाषा' बनाने का अनुरोध करता हूं. 


Find Us on Facebook

Trending News