अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर बिहार विधानसभा में पहली बार कार्यक्रम आयोजित, स्पीकर व विधायकों ने किया योगा, जदयू के बड़े नेता रहे नदारद

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर बिहार विधानसभा में पहली बार कार्यक्रम आयोजित, स्पीकर व विधायकों ने किया योगा, जदयू के बड़े नेता रहे नदारद

पटना. बिहार विधानसभा में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पहली बार योगा का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें भाजपा कोटे से मंत्री और विधायक तो शामिल हुए, लेकिन जदयू कोटे से कोई भी बड़े नेता शामिल नहीं हुए। इस कार्यक्रम में विधानसभा के अध्यक्ष विजय सिन्हा के साथ-साथ विधायकों ने योगाभ्यास किया।

इस दौरान विजय सिन्हा ने योग की महत्ता को बताते हुए कहा कि योग हम सभी के जीवन को बेहतर बनाता है और हम सभी जनप्रतिनिधि तनाव भरी जिंदगी से इस योग के माध्यम से ही निजात पाते हैं। इसीलिए सभी लोगों को योग करने की जरूरत है। इस दौरान उन्होंने इस कार्यक्रम में विधायकों के शामिल होने पर खुशी व्यक्त की।

योगा कार्यक्रम में जेडीयू के नेताओं के शामिल नहीं होने पर मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि योग दिवस कार्यक्रम सभी का कार्यक्रम है। होली दिपावली हम सभी साथ मनाते है। योग दिवस में भी सभी को शामिल होना चाहिए। योग को अंतरराष्ट्रीय स्तर का दर्जा दिलाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहम भूमिका निभाई है।  योग से लोग निरोग रहते हैं। बिना किसी राजनीति के सभी को शामिल होने की जरूरत है।

वहीं अग्निपथ योजना को लेकर बिहार में हुए उग्र प्रदर्शन से जदयू और भाजपा में उपजे विवाद और तल्ख टिप्पणियों पर नितिन नवीन ने दोनों दलों के नेताओं से अपील करते हुए कहा कि बयानबाजी से कुछ हासिल नहीं होने वाला है। उन्होंने कहा कि बिहार के विकास की चिंता सभी को करनी चाहिए। उन्होंने आरजेडी का राजभवन मार्च पर भी तंज करते हुए कहा की जिन लोगों को युवाओं की चिंता है, वह लोग मॉल बनाने और मिट्टी भरने का काम कर रहे थे। बिहार के युवा समझदार हैं और किसी के बहकावे में आने वाले नहीं है। कुछ दल युवाओं को भड़काने का काम कर रही है।


Find Us on Facebook

Trending News