बीजेपी MLA पवन जायसवाल के विरोध के बाद पीछे हटे 'राधामोहन' ! ट्वीट किया डिलीट व फेसबुक पोस्ट में किया सुधार, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने घोषित किये थे BJP के मेयर-डिप्टी मेयर प्रत्याशी

बीजेपी MLA पवन जायसवाल के विरोध के बाद पीछे हटे 'राधामोहन' ! ट्वीट किया डिलीट व फेसबुक पोस्ट में किया सुधार, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने घोषित किये थे BJP के मेयर-डिप्टी मेयर प्रत्याशी

PATNA: बिहार बीजेपी के अंदर सिरफुटौव्वल है। सत्ता के बेदखल होने के बाद बीजेपी के बड़े नेताओं की मनमानी के खिलाफ घर के अंदर से ही आवाज उठने लगी है। बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के तानाशाही रवैये के खिलाफ दल के एक कद्दावर विधायक खुल कर सामने आ गये। विधायक ने पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद की मनमानी के खिलाफ आवाज बुलंद की। घऱ के अंदर ही पूरी तरह से घिर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह सांसद को विवश होकर पीछे हटना पड़ा। साथ ही दो दिन पहले नगर निगम के मेयर पद को लेकर अपने फेसबुक-ट्वीटर पर भाजपा कैंडिडेट के तौर पर जो ऐलान किया था,उसमें सुधार करना पड़ा. न्यूज4नेशन ने जब खबर चलाई तो राधामोहन सिंह को अपना ट्वीट डिलीट करना पड़ा, वहीं फेसबुक पोस्ट में सुधार किया। 

बीजेपी संगठन से ऊपर हैं राधामोहन?

मामला मोतिहारी का है जहां बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व स्थानीय सांसद राधामोहन सिंह और पार्टी के ढाका के कद्दावर विधायक पवन जायसवाल आमने-सामने हैं। दोनों के बीच लड़ाई सतह पर आ गई है। बताया जाता है कि राधामोहन सिंह ने जिला परिषद अध्यक्ष का चुनाव व विधान परिषद चुुनाव में विरोध किया था। दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का विप चुनाव-जिला परिषद अध्यक्ष चुनाव के दौरान की भूमिका सबने देखी थी। अब नगर निकाय चुनाव में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह सांसद और पार्टी के विधायक फिर से आमने-सामने हो गये हैं। बिहार में भले ही नगर निगम का चुनाव पार्टी आधारित नहीं हो, लेकिन बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने 9 सितंबर को ही पार्टी की तरफ से अपने संसदीय क्षेत्र में मेयर-डिप्टी मेयर के लिए BJP उम्मीदवार की घोषणा कर दी थी. इसके बाद भाजपा के विधायक विरोध में मैदान में उतर गये। उन्होंने सीधे तौर पर अपने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के निर्णय को चुनौती दी और नेतृत्व से संज्ञान लेने की मांग की थी। न्यूज4नेशन ने भी खबर लिखी थी कि राधामोहन सिंह ने प्रदेश नेतृत्व को ठेंगा दिखाते हुए बीजेपी कैंडिडेट की घोषणा कर दी। 

भाजपा विधायक के विरोध के बाद बैकफुट पर गये राधामोहन 

विवाद बढ़ता देख और नेतृत्व के तल्ख तेवर के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधामोहन सिंह पीछे हटे हैं. मोतिहारी नगरनिगम क्षेत्र के लिए बीजेपी की तरफ से मेयर-डिप्टी मेयर के नामों का ऐलान किया था, उसमें अब सुधार किया है. पहले बजाप्ता अपने सोशल मीडिया अकाउंट से बीजेपी कैंडिडेट के तौर मेयर-डिप्टी मेयर के नाम घोषित किये थे. जब दल के विधायक ने विरोध किया और मामला न्यूज4नेशन ने उठाया तो राधामोहन सिंह ने उसमें सुधार किया है। फेसबुक पर अब उन्होंने मोतिहारी नगर निगम क्षेत्र के लिए बीजेपी प्रत्याशी वाला शब्द हटा लिया है। पहले फेसबुक-ट्वीटर पर लिखा था कि मोतिहारी नगर निगम चुनावों में महापौर पद के लिए भाजपा प्रत्याशी प्रकाश अस्थाना एवं उपमहापौर पद के लिए भाजपा प्रत्याशी डॉ लालबाबू प्रसाद को अपना समर्थन देकर विजयी बनाएं. जब भाजपा  विधायक पवन जायसवाल ने विरोध किया तो इस लाइन को मिटा लिया है। वहीं  ट्वीटर पर चूंकि सुधार का ऑप्शऩ नहीं है,लिहाजा राधामोहन सिंह ने उस ट्वीट को डिलीट मार दिया है। 

राधामोहन के विरोध में खड़े हुए थे पवन जायसवाल  

बीजेपी नेतृत्व के इजाजत और निर्णय के बिना खुद से बीजेपी उम्मीदवार की घोषणा के बाद राधामोहन सिंह के जिले में ही उऩका विरोध शुरू हो गया है। बीजेपी के कद्दावर विधायक पवन जायसवाल खुलकर मैदान में उतर गये थे. उऩ्होंने राधामोहन सिंह के इस घोषणा को गलत करार दिया.साथ ही भाजपा शीर्ष नेतृत्व से राधामोहन सिंह के मनमाने निर्णय पर रोक लगाने की मांग की थी. पवन जायसवाल ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा था...राज्य में नगर निकाय चुनाव की घोषणा के बाद भाजपा बिहार ने नगर निकायों में मेयर, उप मेयर, मुख्य पार्षद, उप मुख्य पार्षद के संभावित प्रत्याशी को समर्थन देने सम्बन्धी निर्णय नहीं लिया है। इसके पहले नगर निगम मोतिहारी के लिए भाजपा प्रत्याशी मेयर , उप मेयर की घोषणा भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के फ़ेसबुक पेज से होना अत्यंत दुखद ही नहीं बल्कि पार्टी सिद्धांतों के विपरीत है, हमलोग ऐसे मनमाने पूर्ण निर्णय के विरूद्ध तथा पार्टी के राज्य स्तरीय निर्णय के साथ हैं। भाजपा शीर्ष नेतृत्व को शीघ्र स्वयंभू तरीक़े से चम्पारण में हो रहे मनमाने निर्णय पर रोक लगाने की आवश्यकता है। विधायक पवन जायसवाल ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को टैग किया है और मनमाने निर्णय पर रोक लगाने की मांग की है। बीजेपी विधायक ने कहा कि कोई भी नेता संगठन से ऊपर है क्या....संगठन के स्तर से कोई निर्णय हुआ नहीं इसके पहले ही कैसे किसी को कैंडिडेत घोषित कर देंगे?

राधामोहन सिंह का ट्वीटर-फेसबुक पर 9-10 सितंबर का पोस्ट...अब ट्वीटर पर किया डिलीट 

विरोध के बाद राधामोहन सिंह ने लिया यूटर्न,फेसबुक पर किया सुधार...




Find Us on Facebook

Trending News