बिहार विधानसभा चुनाव में प्रचार की बागडोर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी संभाल, उठाया नागरिकता कानून का मुद्दा

बिहार विधानसभा चुनाव में प्रचार की बागडोर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी संभाल, उठाया नागरिकता कानून का मुद्दा

Patna बिहार विधानसभा चुनाव में पहली बार प्रचार में उतरे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह. भागलपुर के कहलगांव से सभा को संबोधित करते रक्षामंत्री ने नागरिकता कानून का मुद्दा उठाया. कहा भारत का विभाजन नही होना चाहिए था. उस समय ऐसा प्रतीत हो रहा था की भारत माता के टुकरे हो रहे हैं. उस वक़्त हमारी पार्टी ने संकल्प लिया था जिस दिन संसद में हमारी पार्टी पूर्ण बहुमत से आएगी उस दिन उत्पीड़न के शिकार अल्पसंख्यकों को भारत लाया जाएगा। उन्हें भारत लाकर नागरिकता देंगे। अपने संकल्प को पूरा करने के लिए ही हमने नागरिकता का कानून पास किया।

राजनाथ सिंह ने मोदी सरकार की योजनाओं का बखान करते हुए कहा हमने जो वादा किया था वो सब पूरा किया. राजनाथ ने कहा कि 2014 में पार्टी की कमान मेरे हाथ में थी। मोदी जी से तरह तरह के मुद्दों पर चर्चा होती थी। तब उन्होंने पीड़ा जताई थी कि बड़े लोग बीमार होते हैं तो इलाज करा लेते हैं लेकिन झोपड़ी में रहने वाला गरीब इलाज नहीं करा पाता। इसके बाद हम लोगों ने आयुष्मान योजना लागू की।

बिहार में 25 लाख लोगों को आयुष्मान योजना का लाभ मिल रहा है। एक समय ऐसा आएगा जब सभी को हम योजना का लाभ देंगे। कोरोना महामारी का हवाला देते हुए कहा कि हमने प्रवाशी मजदूरों के लिए भी मुफ्त अनाज और उनके बैंक खाते में एक-एक हजार रूपये भी दिये.सीएम नीतीश और डिप्टी सीएम सुशील मोदी की सरकार ने प्रवासियों और उनके परिवार के लिए काफी काम किया है। पहले केवल बड़े घरों में सिलेंडर से खाना बनता था, अब गरीबों के घर भी सिलेंडर है। हम सभी घरों में सिलेंडर देना चाहते हैं। राजनाथ सिंह ने भाजपा ओर जनता दल को सचिन और सहवाग की ओपनिंग जोड़ी बताते हुए प्रसंशा का पुल बांध दिया. राजद पर निशाना साधते हुए कहा ना तो अब बिहार में लालटेन जलेगा ना ही लालटेन युग वापस आएगा. 

Find Us on Facebook

Trending News