पाटलिपुत्र से भाजपा सांसद रामकृपाल यादव ने केंद्र सरकार से की मांग, बिहार में भी लगे उद्योग धंधे

पाटलिपुत्र से भाजपा सांसद रामकृपाल यादव ने केंद्र सरकार से की मांग, बिहार में भी लगे उद्योग धंधे

NEW DELHI : बिहार-झारखंड विभाजन के दौरान बिहार के सभी सरकारी उपक्रम झारखंड चले गए। नतीजतन आज बिहार की 11 करोड़ की आबादी बेरोजगारी एवं भुखमरी से परेशान है। बेरोजगारी एवं भुखमरी मिटाने के लिए राज्य सरकार प्रयासरत है। उक्त बातें आज मंगलवार को लोकसभा में पाटलिपुत्र से लोकप्रिय भाजपा सांसद रामकृपाल यादव ने कहीं। उन्होंने सदन के माध्यम से केंद्र सरकार को बिहार की स्थिति से अवगत कराते हुए यहां नए उद्योग स्थापित करने की मांग प्रमुखता से की। 

सांसद रामकृपाल यादव ने कहा कि बिहार में नए उद्योग लगने से यहां रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, जिससे पलायन कम होगा और गरीबी दूर होगी। वहीं, राज्य में आर्थिक समृद्धि आएगी। आगे कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि केंद्र की एनडीए सरकार इस दिशा में पहल करेगी। बिहार में नए उद्योग स्थापित होने से बिहार सशक्त बनेगा एवं माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आत्मनिर्भर भारत का सपना भी पूरा होगा।

बताते चलें की बिहार विधानसभा में भी उद्योग मंत्री शाहनवाज़ हुसैन ने कहा था की मै यह दावा नहीं करूँगा की इधर से सोना डालो उधर से सोना निकल जायेगा. लेकिन यह कहूँगा की इधर से उद्योगपति मक्का डालेंगे और उधर से डॉलर निकलेगा. उन्होंने यह भी कहा था की बिहार में उद्योग धंधों के विकास के लिए सरकार प्रयास कर रही है. 

दिल्ली से धीरज की रिपोर्ट 



Find Us on Facebook

Trending News