DGP साहब ऐसे होगा क्राइम कंट्रोल? कुख्यात ने 48 घंटे में ही दिखाई बिहार पुलिस को हैसियत,अब हाथ मलते रहिए.....

DGP साहब ऐसे होगा क्राइम कंट्रोल? कुख्यात ने 48 घंटे में ही दिखाई बिहार पुलिस को हैसियत,अब हाथ मलते रहिए.....

PATNA: शादी के मंडप से जिस कुख्यात अपराधी रवि गोप को एसटीएफ ने गिरफ्तार किया था वह पुलिस की लापरवाही से जेल से छूट गया और फरार हो गया। पुलिस एक बार फिर से हाथ मलते रह गई। एक छोटे से मामले में रवि गोप को जमानत मिली जबकि दानापुर थाने में दर्ज अपहरण केस में अब भी वह वांटेड है।इधर, रविव गोप के भाग जाने के बाद पटना की तेजतर्रार पुलिस डंडा पीट रही है। पटना के आईजी ने अब संबंधित पुलिस अधिकारी से जवाब मांगा है। लेकिन बड़ा सवाल यही कि क्या इसी तरह से बिहार में क्राइम कंट्रोल होगा?

कुख्यात रवि गोप को एक कम गंभीर केस में जमानत मिलने और तुरंत जेल से रिहा होने और फिर फरार होने की खबर मिलने के बाद आलाधिकारी नींद से जागे हैं. अब सीनियर अधिकारी अपना सिर पीट रहे हैं. इस लापरवाही के लिए पटना रेंज के आईजी संजय सिंह ने पटना के सिटी एसपी वेस्ट अशोक मिश्रा से रिपोर्ट मांगी है। 

 पुलिस-अपराधियों के बीच के सांठगांठ?

 एसटीएफ ने 7 दिसंबर को रवि गोप को गिरफ्तार कर पटना पुलिस के हवाले कर दिया था।तब कहा गया था कि दीघा थाना के एक केस में रवि गोप वांटेड है। 8 दिसंबर को दानापुर के एसडीजेएम कोर्ट में जमानत के लिए अपील की गई। अपील में विवाद का कॉम्प्रोमाइज लेटर लगाया गया. इसी आधार पर कोर्ट ने जमानत दे दी।9 दिसंबर को कोर्ट से रिलीज ऑर्डर फुलवारीशरीफ जेल पहुंचा इसके बाद जेल प्रशासन ने उसे छोड़ दिया।

जानकारी के अनुसार,दानापुर के नासरीगंज में हुई हत्या के मामले में वह वांटेड है। इस केस में फरार रहने के कारण पुलिस ने उसके घर की संपत्ति की कुर्की भी की थी। दानापुर में किडनैपिंग केस में वह पहले से ही फरार था। लेकिन पुलिसिया मिलीभगत से इन केसों की जानकारी पुलिस ने कोर्ट को नहीं दी। इस तरह से पुलिसिया सेटिंग से रवि गोप जमानत पाकर फरार हो गया और पुलिस हाथ मलते रह गई।

Find Us on Facebook

Trending News