महानंदा के बाढ़ से घिरे विस्थापितों के लिए राहत बचाव कार्य में आई तेजी, मदद के लिए पहुंचाए जा रहे हैं पॉलीथिन

महानंदा के बाढ़ से घिरे विस्थापितों के लिए राहत बचाव कार्य में आई तेजी, मदद के लिए पहुंचाए जा रहे हैं पॉलीथिन

KATIHAR : बाढ़ के दस्तक के साथ ही विस्थापित कटिहार जिला के लिए एक बड़ी समस्या है फिलहाल महानंदा नदी के इलाके में पानी बढ़ने लगा है, जबकि गंगा नदी में अब तक सामान्य स्थिति है मगर बाढ़ के दौरान सबसे बड़ा परेशानी लोगों को आश्रय स्थल के रूप में होता है। बिहार सरकार इसे लेकर जिला स्तर पर सबसे जरूरी पॉलिथिन व्यवस्था को दुरुस्त करने का दावा कर रहे हैं।

इसी कड़ी में कटिहार अनुमंडल परिसर से आपदा विभाग द्वारा ट्रैक्टरों में लादकर बाढ़ ग्रस्त इलाके से जुड़े प्रखंडों और पंचायतों में में विस्थापित होने की स्थिति में आश्रय स्थल के रूप में सहारा के लिए पॉलिथीन भेजा जा रहा है। कटिहार आपदा के प्रभारी एडीएम विजय कुमार ने कहा कि अब तक कटिहार में एक लाख आठ हजार पीस पॉलिथीन आ चुका है जिसमें से सत्तर हजार पीस पॉलीथिन बाढ़ ग्रस्त इलाके से ताल्लुक रखने वाले प्रखंड और पंचायत में भेजा जा चुका है आगे भी लगातार यह कार्य जारी है। उन्होंने बताया कि अभी 50 हजार पॉलीथिन शिड्स की अतिरिक्त डिमांड की गई है। जिसमें से अब तक 31 हजार शिड्स की उपलब्धता करा दी गई है।

बता दें कि तीन नदियों से घिरे कटिहार जिले में हर साल बाढ़ के कारण हजारों परिवारों को विस्थापन की समस्या का सामना करना पड़ता है। हर बार सरकार की तरफ से इनके लिए उचित व्यवस्था के दावे किये जाते हैं. लेकिन जैसे ही बाढ़ का पानी इनके घरों तक पहुंचता है। प्रशासन के दावों की सारी पोल खुल  जाती है। उम्मीद की जा रही है कि इस साल बाढ़ के कारण विस्थापितों को किसी बड़ी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। 


Find Us on Facebook

Trending News