100 करोड़ की ठगी करने वाले फ्रॉड बिल्डर पर पहले से वारंट ! 'ट्रिब्यूनल' का ऑर्डर नहीं मानने पर RERA ने अग्रणी होम्स के 'आलोक' पर दर्ज कराया था 4 केस

100 करोड़ की ठगी करने वाले फ्रॉड बिल्डर पर पहले से वारंट ! 'ट्रिब्यूनल' का ऑर्डर नहीं मानने पर RERA ने अग्रणी होम्स के 'आलोक' पर दर्ज कराया था 4 केस

PATNA: पटना के सबसे बड़े फ्रॉड बिल्डर अग्रणी होम्स के निदेशक आलोक कुमार की अब जाकर गिरफ्तारी हुई है। इस बिल्डर ने पूरे बिहार के हजारों ग्राहकों का फ्लैट देने के नाम पर लगभग 100 करोड़ से अधिक की ठगी की है। पटना पुलिस ने उस ठग को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। आप उसकी ठगी का इसी से अनुमान लगा सकते हैं कि सिर्फ रेरा में 13019 शिकायत दर्ज है। पुलिस में भी फ्रॉड के कई केस दर्ज हैं. अग्रणी होम्स ग्राहकों से ठगी करने में नंबर-1 पर है। अग्रणी होम्स के निदेशख आलोक कुमार के खिलाफ रेरा ने भी सीजीएम की अदालत में चार कंप्लेन किया था। बताया जाता है कि उन सभी केस में वारंट भी जारी है.लेकिन आज तक उस वारंट का तामिला नहीं हो सका। 

बिल्डर आलोक पर रेरा के कंप्लेन पर कोर्ट से वारंट

विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अग्रणी होम्स के निदेशक ने बिहार के रियल इस्टेट अपीलेट ट्रिब्यूनल के 4 आदेश को नहीं माना था। इसके बाद ट्रिब्यूनल ने रेरा को बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज करने को कहा था। ट्रिब्यूनल के तल्ख तेवर के बाद रेरा ने पटना सीजेएम की अदालत में केस किया। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कोर्ट ने बिल्डर आलोक कुमार के खिलाफ चारो केस में वारंट भी जारी कर दिया है। लेकिन आज तक उस वारंट का तामिला हो सका. आरोपी बिल्डर के खिलाफ कुर्की-जब्ती के लिए भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। बताया जाता है कि BREAT का आदेश नहीं मानने पर आरोपी को तीन साल की सजा भी हो सकती है। 

पुलिस ने अग्रणी होम्स के बिल्डर आलोक कुमार को यूपी और बिहार में फ्लैट दिलाने के नाम पर 300 फ्लैटियर से 26 करोड़ रुपये गबन केस में गिरफ्तार किया है। पटना सिटी एसपी राजेश कुमार ने प्रेसवार्ता कर बताया की शाहपुर थाना क्षेत्र में 12 करोड़ की धोखाधड़ी का उद्भेदन किया गाय. इसमें अग्रणी होम के निदेशक आलोक कुमार और उसके साथी को गिरफ्तार किया है। 9 अगस्त को भवानी भवन रोड़ अखिलेशनगर पश्चिमी गुलजारबाग पटना की रहनेवाली पुनम शर्मा के आवेदन के आधार पर शाहपुर थाना में अग्रणी होम के खिलाफ 420 का मुकदमा दर्ज किया गया। जिसमें यह बताया कि फ्लैट देने के लिए 9,20,040/- रु लिये हुए थे जो अब तक न ही फ्लैट दिये न ही पैसे लौटाये हैं। पुलिस ने तकनीकी अनुसंधान एवं गुप्त सूचना के आधार पर आलोक कुमार जो जोगीपुर चित्रगुप्तनगर, पत्रकारनगर का रहनेवाला है उसे महमूरगंज वाराणसी (यू०पी०) स्थित लवकुश अपार्टमेंट  से हिरासत में लिया गया है। इनके उपर शाहपुर थाना कुल 07 कांड एवं 01 पत्रकारनगर में कांड दर्ज हैं। प्राथमिकी अनुसार इनके द्वारा 12 करोड़ रुपये से अधिक की रुपया का गबन की बात प्रकाश में आई है। जिसके बाद पुलिस ने ये कार्रवाई की.  

Find Us on Facebook

Trending News