उपचुनाव में जीत को लेकर राजद नहीं करना चाहता कोई चूक, मतगणना को लेकर निर्वाचन आयोग से की यह बड़ी मांग

उपचुनाव में जीत को लेकर राजद नहीं करना चाहता कोई चूक, मतगणना को लेकर निर्वाचन आयोग से की यह बड़ी मांग

PATNA : बिहार में विधानसभा के दो सीटों पर होनेवाले उपचुनाव को लेकर सभी पार्टियों द्वारा अपनी जीत निश्चित करने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं। जहां जदयू दोनों सीटों पर अपनी जीत का रिकार्ड बरकरार रखना चाहता है, वहीं दूसरी तरफ राजद ने दोनों विधायसभाओं में अपने विधायकों की पूरी फौज उतार दी है, जो हर पंचायत में जाकर यह सुनिश्चित करने में लगे हैं कि मतदाता राजद को ही वोट दें। इन सबके बीच अब राजद की तरफ से एक पत्र राज्य निर्वाचन आयोग को लिखा गया है। जिसमें उन्होंने वोटों की गिनती को लेकर एक बड़ी मांग की है। 

सबसे पहले पोस्टल बैलेट के गिनती करने की मांग

राजद इन दोनों सीटों को किसी हाल में जीतना चाहता है। चुनाव में किसी तरह की चूक नहीं हो जाए, इसके लिए सभी एहतियात पार्टी के नेता बरत रहे हैं। अब राजद के राज्यसभा सदस्‍य मनोज झा ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर अपनी पार्टी की तरफ से दो मांगें की हैं। उन्‍होंने कहा है कि दोनों सीटों पर हो रहे उपचुनाव की मतगणना में इन बातों का ध्‍यान रखा जाए। उन्‍होंने सबसे पहले पोस्टल बैलेट की गणना कराने की मांग की है


विधानसभा चुनाव के दौरान पोस्टल बैलेट के गिनती को लेकर हुई थी शिकायत

राजद द्वारा निर्वाचन आयोग से की गई यह मांग बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है। ऐसा इसलिए कि पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव के वोटों के गिनती के कारण कई जगहों पर पोस्टल बैलेट के वोटों की गिनती किए बगैर ही परिणाम जारी कर दिए गए थे। राजद का आरोप था कि पोस्टल बैलेट के वोटों की गिनती नहीं होने के कारण कई सीटों पर हार जीत का अंतर सिर्फ कुछ सौ वोटों का था। राजद ने यह आरोप लगाया था कि निर्वाचन में लगे अधिकारियों ने जानबूझकर पोस्टल बैलेट की गिनती नहीं की।

बता दें कि पोस्टल बैलेट में उन कर्मियों के वोट किए जाते हैं, जो चुनाव में ड्यूटी करते हैं। इस कर्मियों के मत एक लिफाफे में बंद कर जमा कर दिए जाते हैं, जो कि सीधे मतगणना के दौरान खोले जाते हैं। चुनावों में यह वोट बेहद महत्वपूर्ण माने जाते हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News