जंगलराज के भी कुछ कानून होते हैं यहां तो 'वो' भी नहीं, अन्ने मार्ग में रहने वाले मठाधीश अपराधियों को दे रहे संरक्षण

PATNA: पटना में बेखौफ अपराधियों के एक्शन से न सिर्फ राजधानी बल्कि पूरा बिहार सहम उठा है. अब लोगों को लगने लगा है कि वाकई में बिहार में जंगलराज आ गया। मंगवार की देर शाम इंडिगो एयरलाइंस के स्‍टेशन हेड रुपेश सिंह की गोली मारकर हत्‍या किये जाने के बाद सीएम नीतीश का सुशासन कटघरे में है। हर बार की तरह इस बार पुलिस की तरफ से दावे किये जा रहे कि अपराधियों के पीछे पुलिस लगी हुई है। आखिर बिहार की पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी क्यों रहती है? कितनी लाशें गिरने के बाद पुलिस की तंद्रा भंग होगी? लोग अब यह कहने लगे हैं हाथ पर हाथ धरे बैठे रहने से कुछ नहीं होगा बल्कि अपराधियों के साथ उसी तरह का सलूक किया जाना चाहिए। बिहार में बढ़ते अपराध पर राजद ने बताया है कि आखिर क्राइम क्यों बढ़ रहा है। तेजस्वी यादव की तरफ से कहा गया है कि जंगलराज के भी कुछ कानून होते हैं यहां तो कोई कानून ही नहीं है.

एक अन्ने मार्ग में रहने वाले मठाधीश अपराधियों को दे रहे संरक्षण

राजद के प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव ने बिहार की सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जंगलराज के भी कुछ कानून होते हैं,लेकिन यहां तो कोई कानून ही नहीं है। उन्होंने कहा कि बिहार के लोग क्राइम से कराह रहे हैं. बिहार आतंकराज के साये में हैं,तंत्र अपराधियों के सामने घुटने टेक दिये हैं.राजद प्रवक्ता ने सीधा वार करते हुए कहा कि एक अन्ने मार्ग में रहने वाले मठाधीश अपराधियों को संरक्षण दे रहे हैं. ऐसे में क्राइम कंट्रोल कैसे होगा?

दो संदिग्‍धों को हिरासत में ले पूछताछ कर रही पुलिस

घटना के बाद पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। हाई प्रोफाइल मर्डर के बाद पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। पटना आईजी ने एसआईटी का गठन किया है .आइजी संजय सिंह ने अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए स्‍पेशल टीम गठित कर दी है। पुलिस घटना के कारणों का पता लगाने में जुट गई है। घटना के पीछे पुरानी दुश्‍मनी की आशंका व्‍यक्‍त की जा रही है। इधर, पटना पुलिस हत्‍याकांड की जानकारी जुटाने में लगी है। देर रात दो संदिग्धों को हिरासत में  लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है।

मंगलवार की शाम की घटना

 इंडिगो के मैनेजर रूपेश सिंह मंगलवार की देर शाम पटना एयरपोर्ट से अपनी कार से घर लौट रहे थे कि शास्त्रीनगर थाना क्षेत्र के पुनाईचक में उनके अपार्टमेंट के सामने ही ताबड़तोड़ फायरिंग कर उन्‍हें मौत की नींद सुला दिया गया। पुलिस ने वारदात तके सुपारी किलर के शामिल होने की आशंका जताई है। सीसीटीवी फुटेज से स्‍पष्‍ट हुआ है कि अपराधी 20 सेकेंड में ही वारदात को अंजाम देकर निकल गए।उस वक्‍त अपार्टमेंट का गार्ड वहां मौजूद नहीं था। गोली की आवाज सुनकर लोग दौड़े। उन्‍हें आनन-फानन में  पारस अस्‍पताल ले जाया गया, जहां डॉक्‍टरों ने मृत घोषित कर  दिया। इस बीच मृतक रूपेश सिंह की पत्‍नी की तबीयत बिगड़ गई है। उनका पटना के अस्‍पताल में इलाज चल रहा है।



Find Us on Facebook

Trending News