कहां हैं नौबतपुर से अपहृत कारोबारी भाई? 15 दिन बाद भी नहीं खोज सकी पटना पुलिस,राजद MLA ने परिजनों से की मुलाकात

कहां हैं नौबतपुर से अपहृत कारोबारी भाई? 15 दिन बाद भी नहीं खोज सकी पटना पुलिस,राजद MLA ने परिजनों से की मुलाकात

PATNA: पटना के नौबतपुर से अपहृत कारोबारी भाईयों का अब तक कोई पता नहीं चल सका है। अपने आप को तेजतर्रार मामने वाली पटना पुलिस 15 दिनों बाद भी किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है। नौबतपुर पुलिस सिर्फ सीटीटीवी खंगालने की खानापूर्ति में लगी है। नौबतपुर पुलिस अब छोटे बदमशों को पकड़कर तुर्रमखां बन रही थी लेकिन जब बड़ा मामला आया तो सारी तेजी हवा हो गई। पुलिस की नाकामी से परिजन अब सशंकित हो गए हैं. अपहृत कारोबारी भाईयों के बारे अब तक कुछ पता नहीं चलने से परिजन परेशान हैं. 


राजद विधायक ने परिजन से की मुलाकात

इधर,अपहृत कारोबारी भाईयों के परिजनों के सब्र का बांध टूटते जा रहा है। नेताओं का लगातार दौरा जारी है। सुगौली के राजद विधायक ई. शशिभूषण सिंह भी पटना आवास पर जाकर अपहृत कारोबारी के परिजनों से मुलाकात की। राजद विधायक ने डीजीपी को पत्र लिखा है. साथ ही एसएसपी को फोन कर वस्तुस्थिति की जानकारी ली। राजद विधायक ई.शशिभूषण ने कहा कि इस राज में अपराधी बेखौफ हो गए हैं। अपराधियों के आगे पुलिस पुरी तरह से पस्त दिख रही है। उन्होंने डीजीपी से तत्काल एक्शन लेने की मांग की है।वहीं वैश्य समाज के युवा नेता आशीष जायसवाल ने भी पटना पुलिस से अपहृत कारोबारी भाईयों को तत्काल खोजने की मांग की है। उन्होंने परिजनों से मुलाकात की और एसएसपी से भी फोन पर बात की। 

आठ दिसंबर को हुए थे लापता

आठ दिसंबर को नौबतपुर में राइस मिल पार्टनर के साथ हिसाब करने पहुंचे दो चावल कारोबारी भाई के लापता होने का मामला प्रकाश में आया था। अपहृत कारोबारी राकेश कुमार गुप्ता व अमित कुमार गुप्ता के पिता ने अपने दो पुत्रों की गुमशुदगी का मामला थाने में दर्ज कराया था.बड़े कारोबारी के अपहृत हुए 12 दिन बीत गए लेकिन पटना की पुलिस अब तक उन्हें खोजने में विफल रही है।पुलिस लगातार सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही,कई जगहों पर छापेमारी भी की लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। परिजन परेशान हैं,उन्हें समझ में नहीं आ रहा कि वे क्या करें,परिजनों ने डीजीपी से भी गुहार लगाई . यह मामला काफी तुल पकड़ा लेकिन अब तक पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। बड़ा सवाल यही है कि आखिर लोग कैसे पुलिस पर भरोसा करेंगे। दरभंगा में पुलिस न सोना बरामद कर सकी और न पटना में अपहृत कारोबारी भाईयों को ही खोज सकी। ऐसे में सुशासन की पुलिस की कार्यशैली कटघरे में है। 

Find Us on Facebook

Trending News