सुपौल में सड़क बनी भी नहीं और काम पूरा होने का लगा दिया बोर्ड, ग्रामीणों में आक्रोश

सुपौल में सड़क बनी भी नहीं और काम पूरा होने का लगा दिया बोर्ड, ग्रामीणों में आक्रोश

SUPAUL : वर्तमान समय में सरकार के लिए अपनी योजनाओं को धरातल पर पूर्ण रूप से उतारना परेशानी का सबब बनता जा रहा है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है कि आए दिन भ्रष्टाचार के अनेक उदाहरण देखने को मिलते हैं। जो भी सरकारी योजनाएं आती हैं, वह आती तो है आम जनता के लिए, लेकिन वह योजना भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाती है। 


सरकारी अधिकारी एवं कर्मी भ्रष्टाचार में इस तरह लिप्त है कि कोई भी योजना बिना धरातल पर उतरे हीं पूर्ण हो जाती है। इसी तरह का एक मामला जिले के त्रिवेणीगंज प्रखंड में सामने आया है।  जहां मुख्यमंत्री ग्रामीण संपर्क योजना के तहत कोरियापट्टी पश्चिम पंचायत में परवाहा स्कुल से नागेस्वर यादव घर तक सड़क निर्माण किया जाना है। लेकिन आज तक पूर्ण नहीं हो सका। 

सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि इस योजना में कार्य प्रारंभ की तिथि 7/7 /2021 है। कार्य समाप्ति का बोर्ड भी लग चुका है, जो 6 अप्रैल 2022 है। अर्थात लगी बोर्ड के अनुसार 6 अप्रैल  2022 को पूरी तरह से समाप्त हो चुकी है।  

इसमें पथ की लंबाई 500 किलोमीटर है तथा इस पथ के निर्माण में खर्च के लिए प्राक्कलित राशि 36,50227 रूपये है।  लेकिन समय अवधि समाप्त होने के बाद भी इस रोड की अभी तक निर्माण पूरी नहीं हो सका। जिसको लेकर ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। 

सुपौल से पप्पू आलम की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News