झारखंड से बिहार पहुंचा कमरे वाला विवाद : भाजपा विधायक ने की विधानसभा में हनुमान चालिसा पढ़ने के लिए व्यवस्था करने की मांग

झारखंड से बिहार पहुंचा कमरे वाला विवाद : भाजपा विधायक ने की विधानसभा में हनुमान चालिसा पढ़ने के लिए व्यवस्था करने की मांग

PATNA : झारखंड सरकार द्वारा विधानसभा में मुस्लिम वर्ग के लोगों के लिए अलग कमरे की व्यवस्था की गई है, ताकि वह वहां पर नमाज पढ़ सकें। इस मुद्दे पर जहां झारखंड की राजनीति गरमाई हुई है। वहीं अब इसकी आंच बिहार भी पहुंच गई है। बिहार में भी भाजपा की तरफ से इस मुद्दे को लेकर एक बड़ी मांग कर दी गई है। बीजेपी के बिस्फी विधायक चुने गए हरिभूषण ठाकुर बचौल ने मांग की है कि बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में भी हनुमान चालीसा पढ़ने की इजाजत दी जाए. उन्होंने कहा कि शुक्रवार को जब नमाज पढ़ने के लिए अवकाश दिया जाता है, तो मंगलवार को हनुमान चालीसा पाठ करने के लिए भी अनुमति दी जाए. उक्त बातें उन्होंने झारखंड विधानसभा में कमरा अलॉट किए जाने को लेकर उपजे विवाद को लेकर अपनी प्रतिक्रिया के रूप में कही हैं।

बीस्फी विधायक ने इस दौरान झारखंड सरकार के फैसले को भी गलत करार दिया। उन्होंने कहा कि यह एक विशेष समुदाय को खुश करने के लिए उठाया गया कदम है। बीस्फी विधायक अक्सर कई मुद्दों पर खुलकर अपनी बात रखते रहे हैं। कुछ दिन पहले ही उन्होंने तालिबान मुद्दे पर यह बयान दिया था कि जिन लोगों को भारत में डर लगता है, वह अफगानिस्तान चले जाएं। 


झारखंड की राजनीति में आया भूचाल

बता दें कि झारखंड विधानसभा में नमाज पढ़ने के लिए अलग कमरे का आवंटन किया गया है. इस मुद्दे पर राज्य की सियासत गर्म है. बीजेपी सरकार पर तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए लगातार हमलावर है. विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन पार्टी विधायकों ने सदन के अंदर और बाहर जोरदार प्रदर्शन किया. सदन की कार्यवाही को चलने नहीं दिया. बीजेपी का कहना है कि जबतक इस फैसले को वापस नहीं लिया जाता, तब तक सदन नहीं चलने दिया जाएगा. बीजेपी ने विधानसभा में हनुमान चालीसा पढ़ने और मंदिर के लिए जगह की मांग की है. पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने विधानसभा अध्यक्ष को चिट्ठी लिखकर नमाज के लिए अलग कमरा आवंटन के निर्णय को वापस लेने का आग्रह किया है.  

Find Us on Facebook

Trending News