रुबन मेमोरियल हॉस्पिटल ने स्ट्रोक अवेयरनेस प्रोग्राम का किया आयोजन, स्ट्रोक की रोकथाम पर हुई चर्चा

रुबन मेमोरियल हॉस्पिटल ने स्ट्रोक अवेयरनेस प्रोग्राम का किया आयोजन, स्ट्रोक की रोकथाम पर हुई चर्चा

PATNA : रुबन मेमोरियल हॉस्पिटल की ओर से विश्व स्ट्रोक दिवस के अवसर पर स्ट्रोक अवेयरनेस प्रोग्राम (स्ट्रोक जागरूकता कार्यक्रम) का आयोजन किया गया। आयोजन में विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा जानकारी दी गई। डॉक्टर नरेन्द्र ने स्ट्रोक की रोकथाम के उपाय पर बात की।  न्यूरो फिजिशियन डॉ. मुनिष कुमार ने इमरजेंसी में स्ट्रोक के इलाज की जरूरत और समय सीमा पर जानकारी दी। डॉ. कुनाल कुमार (न्यूरो सर्जन) ने स्ट्रोक में सर्जरी की जरूरत, विकल्पों और सफलता पर बात की। 

डॉ. कुनाल ने बताया की किसी भी मरीज में चेहरे का टेढ़ापन, हाथ या पैर में लकवा मरना, बोलने की तकलीफ या समझने में तकलीफ स्ट्रोक के लक्षण हो सकते हैं ( देखना, दिखना, हाथ, पैर, बोल चाल में दिक्कत स्ट्रोक हो सकता हैं)। ऐसे में शीघ्र अपने निकटतम डॉक्टर या हॉस्पिटल से संपर्क करे। डॉ. गौरव फिजियोथेरेपी हेड ने स्ट्रोक मरीजो में फिजियोथेरेपी एवं रीहेबीलीटेशन पर बात की |

मुख्य अतिथि के तौर पर डॉ. सत्यजीत सिंह, डॉ. विभा सिंह एवं ग्रुप कैप्टन अनिल कुमार सिंह मौजूद थे। डॉ. सत्यजीत सिंह ने रुबन हॉस्पिटल द्वारा स्ट्रोक मरीजो के बेहतर इलाज पर बात की। चेयरपर्सन डॉ. अनवर आलम (न्यूरो फिजिशियन) एवं डॉ. हिमांशु कुमार (न्यूरो सर्जन) ने भी अपने अपने विचार प्रकट किए। सभी ने मिलकर स्ट्रोक मरीजों के बेहतर ईलाज की प्रतिज्ञा को दोहराया एवं समाज को जागरूक करने की पहल पर जोर दिया।

Find Us on Facebook

Trending News