ग्रामीण अस्पताल तबेला में है तब्दील,पर नीति आयोग ने खगड़िया को स्वास्थ्य के क्षेत्र में दिया है देश में प्रथम स्थान

ग्रामीण अस्पताल तबेला में है तब्दील,पर नीति आयोग ने खगड़िया को स्वास्थ्य के क्षेत्र में दिया है देश में प्रथम स्थान

KHAGDIYA :- नीति आयोग के हाल के डेल्टा रिपोर्ट में आकांक्षी जिला खगड़िया को देश के अन्य 112 आकांक्षी जिला में हेल्थ सेक्टर में प्रथम स्थान दिया है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर सुविधा का दावा किया गया है। लेकिन जमीनी सच्चाई कुछ और ही नजर आती है। 

आपको बता दें कि जब स्वास्थ्य व्यवस्था का पड़ताल किया तो खगड़िया के ग्रामीण इलाके का अधिकांश उप-स्वस्थ्य ,अतिरिक्त उप-स्वास्थ्य केंद्र बदहाल दिखा। कहीं स्वाथ्यकेन्द्र तबेला में तब्दील हुआ है ,तो कहीं भूसा गोदाम बना हुआ है तो कोई अतिक्रमण का शिकार हुआ है। अधिकांश स्वास्थ्य केंद्र पर ताला जड़ा हुआ नजर आया। सदर अस्पताल में संतोषजनक सुविधा है।लेकिन न तो पर्याप्त डॉक्टर प्रतिनियुक्त है और न ही सही से दवाई मिल पाता है। स्थानीय लोगो की माने तो नीति आयोग का डेल्टा रिपोर्ट जमीन से जुड़ा नहीं है। सिर्फ हवा हवाई रिपोर्ट है। लोगों का कहना है कि रिपोर्ट में कहा गया है कि जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध है। लेकिन यह समझ से परे है कि रिपोर्ट को किस आधार पर तैयार किया गया है। जैसे तैसे मरीजों का इलाज किया जा रहा है। 

वहीं डीएम ने नीति आयोग की रिपोर्ट पर खुशी जाहिर किया।आपको बता दें कि खगड़िया जिला देश के पिछड़े जिले में शामिल है। जिस कारण नीति आयोग ने खगड़िया को 122 आकांक्षी जिला में शामिल किया है। कई बार नीति आयोग की टीम भी खगड़िया आई भी है।

Find Us on Facebook

Trending News