SAHARSA: उत्तर बिहार के पहले प्लेस ऑफ सेफ्टी का उद्घाटन, बच्चों को एक ही जगह मिलेंगी सभी जरूरी सुविधाएं

SAHARSA: उत्तर बिहार के पहले प्लेस ऑफ सेफ्टी का उद्घाटन, बच्चों को एक ही जगह मिलेंगी सभी जरूरी सुविधाएं

सहरसा में उत्तर बिहार के पहले प्लेस ऑफ सेफ्टी का उद्घाटन किया गया. जिला एवं सत्र न्यायाधीश विनोद कुमार शुक्ला ने इसका उद्घाटन किया. इस दौरान कार्यक्रम में जिलाधिकारी कौशल कुमार एसपी लिपि सिंह सहित कई अधिकारी मौजूद रहे. बच्चों के अधिकारों को प्रोत्साहित और सुरक्षित करने के उद्देश्य पर आधारित इस बाल सुधार गृह में 14 जिलों के 16 से 18 वर्ष के विधि विवादित बच्चे रहेंगे. 

वहीं 18 से ऊपर होने पर दोष सिद्ध बच्चों को पटना स्थित स्पेशल होम भेजा जाएगा. इसके अलावा 16 साल के कम उम्र के बच्चों को पर्यवेक्षण गृह भेजा जाएगा. इससे पहले इन किशोरों को भी पटना भेज दिया जाता था. इस मौके पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विनोद कुमार शुक्ला ने कहा कि यह पूरे प्रदेश के लिए महत्व का दिन है. यहां 16 से 18 वर्ष के बच्चों की सुरक्षा की जिम्मेवारी विभाग की होगी. उनकी सभी जरूरी सुविधाओं का ध्यान रखा जाएगा. साथ ही उनके व्यवहार और आचरण सुधार पर विशेष ध्यान दिया जाएगा. वहीं जिला पदाधिकारी कौशल कुमार ने कहा कि यहां 14 जिलों के विधि विवादित बच्चे रहेंगे. 

इस उद्घाटन कार्यक्रम में आरक्षी अधीक्षक लिपि सिंह, एडीजे प्रथम मोती कुमार सिंह, लोक अदालत सचिव रवि रंजन, सीजेएम अभय श्रीवास्तव, जज इंचार्ज प्रकाश कुमार सिन्हा, प्रधान दंडाधिकारी मनीष कुमार, सहायक निदेशक बाल संरक्षण सत्यकाम, किशोर न्याय परिषद सहरसा के सदस्य अरविंद कुमार झा भी मौजूद रहे. 

Find Us on Facebook

Trending News